Raj Express
www.rajexpress.co
मुख्यमंत्री कमलनाथ
मुख्यमंत्री कमलनाथ|Social Media
मध्य प्रदेश

NPR जन और समाज विरोधी! नहीं होने दिया जायेगा MP में लागू : CM

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एनपीआर को लेकर केन्द्र में सत्तारूढ़ दल ने BJP पर हमला करते हुए आज कहा कि, उनकी एनपीआर को लेकर नीयत साफ नहीं है।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को लेकर केन्द्र में सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी पर हमला करते हुए आज कहा कि, उनकी एनपीआर को लेकर नीयत साफ नहीं है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने यहां कांग्रेस के शांति मार्च के बाद पत्रकारों से चर्चा में कहा कि एनपीआर तो केन्द्र की पूर्ववर्ती संयुक्त प्रगतिशील गठनबंधन (संप्रग) सरकार भी लाना चाहती थी, लेकिन उसमें कोई राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) नहीं जुड़ा था।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आरोप लगाते हुए कहा कि, केन्द्र की मौजूदा सरकार द्वारा राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) जोड़कर लाया जा रहा है, जिससे स्पष्ट है कि उनकी नीयत साफ नहीं है।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के अंदरूनी लक्ष्यों को लेकर उनकी चिंता है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हर कानून में सफाई दे दी जाती है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) ध्यान मोड़ने का अभियान चला रही है। उसे देश की समस्याओं की कोई चिंता नहीं है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र के मंत्री ने स्वयं कहा है कि

वह पूरे देश में एनआरसी लाएंगे, लेकिन अब इस पर सफाई दी जा रही है। उन्होंने ‘संविधान बचाओ न्याय शांति यात्रा’ को शांति मार्च बताते हुए कहा कि वे मध्यप्रदेश ही नहीं देश के हर नागरिक को यह संदेश देना चाहते हैं कि केन्द्र की मौजूदा सरकार हमारी आने वाली पीढ़ी के भविष्य को किस प्रकार से खतरे में डाल रही है।

उन्होंने कहा कि जन विरोधी, संविधान विरोधी तथा समाज विरोधी, ऐसे किसी कानून को मध्यप्रदेश में लागू नहीं किया जाएगा।

CAA-NRC के विरोध में कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस का शांति मार्च

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।