प्रदेश की उम्मीदों पर फिरा पानी
प्रदेश की उम्मीदों पर फिरा पानी|Social Media
मध्य प्रदेश

प्रदेश की उम्मीदों पर फिरा पानी, सत्ता लोभियों की हुई हार - CM नाथ

मध्यप्रदेश के कार्यवाहक मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज कहा कि, प्रदेश की उम्मीदों और विश्वास की हार हुयी है...

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के कार्यवाहक मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज कहा कि, प्रदेश की उम्मीदों और विश्वास की हार हुयी है, जिसमें सत्ता का लोभ रखने वालों की जीत हुयी है। कमलनाथ ने अपने ट्वीट के जरिए यह निशाना साधा। उन्होंने कहा ‘आज मध्यप्रदेश की उम्मीदों और विश्वास की हार हुई है, लोभी और प्रलोभी जीत गए हैं। मध्यप्रदेश के आत्मसम्मान को हराकर कोई नहीं जीत सकता। मैं पूरी इच्छाशक्ति से मध्यप्रदेश के विकास के लिए काम करता रहूंगा।’

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र राज्यपाल को सौंपा

हाल ही में मध्यप्रदेश में एक पखवाड़े से चल रही सियासी उठापटक का अंत आज दोपहर मुख्यमंत्री कमलनाथ के राज्यपाल लालजी टंडन को त्यागपत्र सौंपने के साथ ही हो गया। कमलनाथ लगभग सवा बजे राजभवन पहुंचे और उन्होंने राज्यपाल लालजी टंडन को अपना त्यागपत्र सौंप दिया।

सात पंक्तियों के त्यागपत्र में कमलनाथ ने लिखा-

'मैंने अपने 40 वर्ष के सार्वजनिक जीवन में हमेशा से शुचिता की राजनीति की है और प्रजातांत्रिक मूल्यों को सदैव तरजीह दी है। मध्यप्रदेश में पिछले दो हफ्ते में जो कुछ भी हुआ, वह प्रजातांत्रिक मूल्यों क अवमूल्यन का एक नया अध्याय है। मैं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के पद से अपना त्यागपत्र दे रहा हूं। साथ ही नए बनने वाले मुख्यमंत्री को मेरी शुभकामनाएं। मध्यप्रदेश के विकास में उन्हें मेरा सहयोग सदैव रहेगा।‘

वही कांग्रेस छोड़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने वाले वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज कहा कि मध्यप्रदेश में जनता की जीत हुयी है। सिंधिया ने ट्वीट कर कहा ‘मध्यप्रदेश में आज जनता की जीत हुई है। मेरा सदैव ये मानना रहा है कि राजनीति जनसेवा का माध्यम होना चाहिए, लेकिन प्रदेश सरकार इस रास्ते से भटक गई थी। सच्चाई की फिर विजय हुई है।’

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co