कमलनाथ का बयान
कमलनाथ का बयानSyed Dabeer Hussain - RE

कमलनाथ ने तंज कसते हुए कहा- "पता नहीं शिवराज सरकार हर बार घटना के बाद ही क्यों जागती है"

भोपाल, मध्यप्रदेश। कमलनाथ ने बयान देते हुए सीएम पर जमकर तंज कसा है। उन्होंने कहा है कि, शिवराज सरकार में प्रदेश आदिवासी वर्ग पर अत्याचार व दमन के मामले में पहले से ही देश में शीर्ष पर है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। एमपी के कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) का फिर से बड़ा बयान सामने आया है। पूर्व सीएम कमलनाथ ने बयान देते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान पर जमकर तंज कसा है। उन्होंने शिवराज सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि, पता नहीं क्यों सरकार हर बार घटना के बाद ही जागती है।

कमलनाथ ने ट्वीट कर कही ये बात:

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कमलनाथ ने ट्विटर करते हुए लिखा है कि, पता नहीं शिवराज सरकार हर बार घटना के बाद ही क्यों जागती है , पहले तो वो सोई रहती है… कोई बस की दुर्घटना होती है तो बसो की चेकिंग व तमाम नियम क़ायदे याद आते है। अभी मासूम बच्ची से स्कूल बस में दुष्कर्म की घटना घटी तो स्कूलों के लिये व स्कूल बसो के लिये बने तमाम नियम क़ायदे याद आये। किसानो की यूरिया रास्ते से ही ग़ायब हो जाती है , तब सरकार जागती है.. पोषण आहार घोटाला हो जाता है , सीएजी की रिपोर्ट आती है तो सरकार की नींद खुलती है।

यदि सरकार व ज़िम्मेदार जागते रहें तो इस तरह की घटना घटे ही नहीं : कमलनाथ

कमलनाथ ने कहा कि, कारम डैम फूट जाता है तो बांधो के निरीक्षण की सरकार को याद आती है। ज़हरीली शराब से लोगों की मौत हो जाती है , शराब माफिया पुलिस व अधिकारियों पर ही हमले करते है तो कार्यवाही याद आती है। हर बड़े अपराध के बाद क़ानून व्यवस्था याद आती है, यदि सरकार व ज़िम्मेदार जागते रहे तो इस तरह की घटना घटे ही नहीं।

आगे कमलनाथ ने बयान देते हुए कहा कि, शिवराज सिंह चौहान सरकार प्रदेश को कर्ज के दलदल में डुबाती जा रही है। प्रदेश पर वर्ष 2021-22 में 2.95 लाख करोड़ रुपए का कर्ज हो चुका है और अब प्रदेश सरकार हर महीने औसतन 5000 करोड़ रुपए का कर्ज ले रही है। शिवराज सरकार में प्रदेश आदिवासी वर्ग पर अत्याचार व दमन के मामले में पहले से ही देश में शीर्ष पर है। जनता यह सब सच्चाई देख रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co