कमलनाथजी का सवा साल में ही पाप का घड़ा भर गया- चौहान

इंदौर, मध्य प्रदेश : सीएम ने सांवेर विधानसभा के ग्राम पालकांकरिया में जनसभा को संबोधित किया।
कमलनाथजी का सवा साल में ही पाप का घड़ा भर गया- चौहान
कमलनाथजी का सवा साल में ही पाप का घड़ा भर गया- चौहानSocial Media

इंदौर, मध्य प्रदेश। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ उनकी ही कैबिनेट में मंत्री रहीं इमरती देवी का नाम याद नहीं रख पा रहे हैं। वे उनको अपशब्द कहकर संबोधित कर रहे हैं और उसका भी उनको कोई अफसोस नहीं है। कमलनाथ को नेता ही नहीं नेता प्रतिपक्ष रहने का भी अधिकार नहीं है। कांग्रेस की तो विचारधारा ही महिला विरोधी है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि विधानसभा चुनाव 2018 में हमारी कुछ सीटें कम आईं, लेकिन हमने जोड़-जुगाड़ पर भरोसा नहीं किया और कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए फ्री कर दिया। कांग्रेस ने कमलनाथ को मुख्यमंत्री बना दिया, लेकिन उनके पापों का घड़ा सवा साल में ही भर गया और इस घड़े को श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मिलकर साथी विधायकों ने फोड़ दिया। अब कमलनाथ विचलित हैं कि ये गरीब किसान का बेटा चैथी बार भी मुख्यमंत्री बन गया। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सांवेर विधानसभा की पालकांकरिया में जनसभा को संबोधित करते हुए कही। वे भाजपा प्रत्याशी तुलसीराम सिलावट के समर्थन में सभा करने इंदौर आए थे।

वे सेठ हैं, लेकिन हम तो नालायक ही अच्छे :

मुख्यमंत्री चौहान ने अपने संबोधन में कहा कि कमलनाथ तो सेठ हैं, लेकिन हम तो नालायक ही अच्छे हैं, नंगे-भूखे ही अच्छे हैं। हम प्रदेश की जनता को सस्ती दर पर अनाज उपलब्ध करा रहे हैं, लेकिन उन्होंने तो 15 माह में गरीबों से उनका हक ही छीन लिया। हम प्रदेश का विकास कर रहे हैं, लेकिन वे सेठ हैं, उद्योगपति हैं उन्होंने तो सिर्फ खुद का विकास किया है। प्रदेश की जनता से उनको कोई लेना-देना नहीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं तो जैत गांव के एक कच्चे मकान में पैदा हुआ हूं, लेकिन वे कहां से आए कानपुर से या कलकत्ता से, जनता को बताएं। उन्होंने कहा कि जिन्होंने कभी गांव नहीं देखे, गरीब, किसानों की पीढ़ा नहीं देखी वे क्या उनके बारे में सोचेंगे। उन्होनें कहा कि कमलनाथ आपने कर्जमाफी के नाम पर बंगाली जादू करके भोली भाली जनता को मरी हुई चुहिया पकड़ा दी और उसे लिये-लिये घूम रहे हो।

कमलनाथ ने हमेशा से पैसे का रोना रोया, मैं कहता हूं कि मेरे पास कोई कमी नहीं है जो मुख्यमंत्री रोज पैसे की कमी के लिये रोये तो वह काहे का मुख्यमंत्री पैसा नहीं है तो उसकी व्यवस्था कैसे करना है वह व्यवस्था जुटाले वही तो नेता है।

माता-बहनों के अपमान का अधिकार नहीं :

नारी सम्मान पर बोलते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ प्रदेश की एक सम्मानीय महिला जो उनकी कैबिनेट में भी मंत्री रही थीं और अब भाजपा सरकार में मंत्री है उनका अपमान कर रहे हैं। कमलनाथ को यह अधिकार नहीं है कि वे प्रदेश की माताओं-बहनों और बेटियों को अपशब्द कहें, उनका अपमान करें। उन्होंने कहा कि कमलनाथ कहते हैं कि शिवराज सिंह तो नारियल लेकर चलता है। अब विकास के लिए नारियल फोड़ते हैं तो यह भी कांग्रेसियों को रास नहीं आ रहा है। उनकी तो किस्मत ही फूटी हुई थी, वे नारियल क्या फोड़ते? उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार 15 माह नहीं रही तो किसानों के खातों में पैसा आना ही बंद हो गया था, लेकिन अब फिर से किसानों के खातों में पैसा आता रहेगा।

महिला विरोधी सोच :

श्री चौहान ने महिलाओं के सम्मान वाले मुद्दे पर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होनें कहा कि आज मैंने और भाजपा नेताओं ने पार्टी के नेताओं ने मौन व्रत रखा, ताकि कमलनाथ और कांग्रेस को कुछ सद्बुद्धि आ जाए, लेकिन उन्हें इसका कोई अफसोस नहीं है। कमलनाथ की तो सोच ही महिला विरोधी है, इसीलिए तो उन्होंने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में 51 हजार की राशि तो कर दी लेकिन एक भी बेटी को यह राशि नहीं दी। हम माता की पूजा करते हैं और बहनों को सम्मान देते हैं, उनको सम्मान की नजर से देखते हैं, लेकिन ये कमलनाथ उनको अपशब्द बोलकर उनका अपमान करते हैं। क्या राजनीति के कीचड़ में उनकी मर्यादाओं एवं सम्मान को फेंक दिया जाएगा? क्या इमरती देवी कांग्रेस के साथ नहीं है, इसलिए उनको अपमानित किया जाएगा? महिलाओं का अपमान किसी भी कीमत पर नहीं सहेंगे। सभा में सांसद शंकर लालवानी, उषा ठाकुर, भाजपा जिला अध्यक्ष डॉ. राजेश सोनकर, नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे, विधायक रमेश मेंदोला, इकबालसिंह गांधी, मधु वर्मा सांवेर विधानसभा उपचुनाव प्रभारी रमेश मेंदोला, महेन्द्र हार्डिया, मालिनी गौड़, आकाश विजयवर्गीय, गोविन्द मालू, उमेश शर्मा, उमानारायण पटेल, प्रेमनारायण पटेल, राजपालसिंह सिसोदिया, सुभाष चौधरी, दिलीप चौधरी, उमरावसिंह मौर्य, कंचनसिंह चौहान, रंजनसिंह चौहान सहित बड़ी संख्या में स्थानीय लोग थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co