इंदौर : शहर कोरोना के कारण में बड़े पैमाने पर नहीं हुआ करवाचौथ सेलिब्रेशन
बड़े पैमाने पर नहीं हुआ करवाचौथ सेलिब्रेशनSocial Media

इंदौर : शहर कोरोना के कारण में बड़े पैमाने पर नहीं हुआ करवाचौथ सेलिब्रेशन

इंदौर, मध्य प्रदेश : कोविड-प्रोटोकॉल के साथ महिलाओं ने की करवा चौथ की पूजा। गेम्स की मस्ती के साथ ही हेल्थ और हाइजीन पर हुई बात।

इंदौर, मध्य प्रदेश। इंदौर शहर का मिज़ाज़ ही उत्सव प्रिय है पर कोविड के कारण अब पहले की तरह बड़े स्तर पर हर त्यौहार को एक साथ मिलकर मनाना संभव नहीं इसलिए इस बार शहर में करवा चौथ पर सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए छोटे-छोटे गेट-टू-गेदर हुए। ऐसा ही एक रोचक आयोजन हुआ वुमनिया सलोन में, जहाँ महिलाओं ने पारम्परिक तरीके से करवा चौथ की पूजा करने के साथ ही कोविड-19 से बचाव के लिए तरीकों को लेकर भी बात की।

शहर में इस बार करवा चौथ पर बड़े सामूहिक आयोजन नहीं हुआ। छोटे-छोटे समूहों में कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए मोहल्लों, कालोनियों, सोसाइटी में महिलाओं ने आयोजन रखा। जैसे ही रात को चांद का दीदार हुआ, महिलाओं ने चांद को अर्घ्य देते हुए अपने स्वामियों के हाथों व्रत खोला। इसके पूर्व सुबह से करवा चौथ को लेकर विभिन्न आयोजन हुए।

गेम्स, मस्ती और थोड़ी काम की बातें :

वुमनिया सलोन की आयोजक और मिसेज सेंट्रल इंडिया अर्चना प्रसाद कहती है कि पहले सभी को लगा था कि कोविड-19 का प्रकोप कुछ ही दिनों में ख़त्म हो जाएगा पर अब हम यह समझ चुके हैं कि इस बीमारी से बचाव ही इससे लड़ऩे का एकमात्र तरीका है। ऐसे में हम आखिर कितने दिनों तक अपनी खुशियों को पोस्पोन करेंगे? इसलिए जरुरी है कि हम इस बीमारी से बचाव की पूरी सावधानियां रखते हुए अपने त्यौहारों का भी पूरा मज़ा लें। बस इसी आईडिया को लेकर हमने यह कार्यक्रम किया है। हमारी थीम लाइन ही यह है कि च्च्इस बार पति की लंबी उम्र के लिए इस बार सिर्फ व्रत नहीं सेनेटाइज़शन भी है जरुरी। करवा चौथ गेट टू गेदर में पूजा से पहले सभी ने कई मजेदार गेम्स भी खेले, जिसमें सबसे खास था करवा चौथ स्पेशल हाउजी। इसमें हाउजी की तरह चिट निकाली जा रही थी, जिसमें नम्बर्स के बजाये अल्फाबेट थे। हर महिला के हाथ में अपने पति के नाम की पर्ची थी, इन अल्फाबेट्स से जिस महिला के पति का नाम सबसे पहले पूरा होता, उसे वुमनिया की ओर से गिफ्ट वाउचर्स दिए जाते। ऐसे ही कई रोचक गेम्स के बाद करवा चौथ की पूजा पूरे रीति-रिवाज के साथ की गई। इस दौरान कोविड-19 से बचाव के तरीकों और सावधानियों के बारे में भी जानकारी दी गई।

गार्डन के स्थान पर होटल में आयोजन :

करवाचौथ का सामूहिक आयोजन खुले आसमान के नीचे गार्डन में होता था। इस बार ज्यादातर आयोजन होटलो, फार्म हाउस में अपनो के बीच ही आयोजित किए गए। यह भी कोरोना प्रोटोकाल की गाइड लाइन का पालन किया गया। मेरिएट होटल में भी करवाचौथ को लेकर सामूहिक आयोजन हुआ, जिसमें महिलाओं ने करवाचौथ की पूजा अर्चना के साथ ही विभिन्न गेम्स और अन्य माध्यम से इसे एंजाय किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co