कटनी: बंधक बनाए गए श्रमिकों को छुड़ाने में मिली सफलता, 52 मजदूरों की वापसी
बंधक बनाए गए श्रमिकों को छुड़ाने में मिली सफलताSocial Media

कटनी: बंधक बनाए गए श्रमिकों को छुड़ाने में मिली सफलता, 52 मजदूरों की वापसी

कटनी, मध्यप्रदेश : महाराष्ट्र के सोलापुर में मध्यप्रदेश के कटनी के श्रमिकों को बनाया गया था बंधक, प्रशासन की सक्रियता से सकुशल वापस लौटे बंधक बनाये गये 52 श्रमिक।

कटनी, मध्यप्रदेश। कोरोना संकट के बीच महाराष्ट्र के सोलापुर में मध्यप्रदेश के कटनी के 52 श्रमिकों को बंधक बनाकर उन पर अत्याचार किया जा रहा था, इस मामले में जिला प्रशासन की सक्रियता और महाराष्ट्र की सोलापुर पुलिस के सहयोग से सोलापुर में बंधक बनाये गये 52 श्रमिकों को छुड़ाने में सफलता मिली है, बता दें कि शुक्रवार की देर रात 2 बजे श्रमिकों को सकुशल स्लीमनाबाद लाया गया।

बता दें कि श्रमिकों की समस्या संज्ञान में आते ही पुलिस अधीक्षक तेजस्वी सतपोटे ने मामले को अत्याधिक गंभीरता से लेते हुये 5 जनवरी को ही विषेश टीम का गठन करते हुये कार्य में लगाया, जिसके बाद चौबीस घंटे के भीतर ही 6 जनवरी टीम ने छापामार कार्रवाई करते हुये सभी बंधक बनाये गये 52 श्रमिकों को अपनी अभिरक्षा में लिया, साथ ही उन्हें वाहनों के माध्यम से मंदरुप थाने ले गये।

इस मामले कि जानकारी मिलने के बाद ग्रामीणों ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आकर इस विषय में शिकायत दर्ज कराई थी, इसकी जानकारी जैसे ही कलेक्टर प्रियंक मिश्रा को मिली, उन्होंने मामले की संवेदनशीलता को समझते हुये तुरंत ही बहोरीबंद एसडीएम को प्रकरण की जांच करने और त्वरित रुप से जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये थे। इस मामले में सोलापुर एसपी तेजस्वी सतपोटे, इन्सपेक्टर महाराष्ट्र पुलिस नितिन थेटे और एसडीएम टीकमगढ़ सौरभ सोनवाने का रहा सक्रिय सहयोग रहा।

सीएम शिवराज ने किया ट्वीट-

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा कि महाराष्ट्र के सोलापुर में बंधक बने कटनी के 52 श्रमिकों को त्वरित कार्रवाई कर मुक्त कराने व वापस लाने के लिए कटनी प्रशासन को बधाई दी है। सीएम ने कहा कि सुशासन देना मध्यप्रदेश सरकार की प्राथमिकता है।

मध्यप्रदेश की जनता को सुशासन देना हमारी सरकार का एकमात्र लक्ष्य है। इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए शासन और प्रशासन निरंतर कार्यरत है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co