खबर का असर : कांग्रेस जिलाध्यक्ष पर आपराधिक मामला दर्ज

उमरिया, मध्य प्रदेश : बगैर अनुमति के सरकारी भवन में तोड़े थे कायदे। ठीक 4 माह बाद आखिरकार दर्ज हुआ मामला।
खबर का असर : कांग्रेस जिलाध्यक्ष पर आपराधिक मामला दर्ज
खबर का असर : कांग्रेस जिलाध्यक्ष पर आपराधिक मामला दर्जRaj Express

उमरिया, मध्य प्रदेश। कोतवाली पुलिस ने व्यापारी संघ की बैठक बगैर अनुमति के आयोजित करने के आरोप मे जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेश शर्मा तथा एक अन्य के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किया है। इस संबंध मे मिली जानकारी के मुताबिक जिला कांग्रेस कमेटी उमरिया के अध्यक्ष राजेश शर्मा ने दिनांक 8 जुलाई को स्थानीय सर्किट हाऊस में व्यापारियों की बैठक आयोजित की थी, जिसकी कोई अनुमति उनके द्वारा प्रशासन से नहीं ली गई थी। जिसके बाद राज एक्सप्रेस ने इस खबर को प्रमुखता से 11 जुलाई के अंक में प्रकाशित किया था।

आदेशों का उल्लंघन :

कोविड-19 का संक्रमण हेतु जिला प्रशासन द्वारा जारी आदेशों का उल्लंघन हुआ है, अत: कलेक्टर के निर्देश पर जिलाध्यक्ष तथा एक अन्य व्यक्ति के विरूद्ध 7 नवंबर 2020 को धारा 188, 269, 51 आपदा प्रबंधन अधिनियम का अपराध दर्ज किया गया है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले किसान विरोधी विधेयक के खिलाफ धरना-प्रदर्शन करने पर भी उनके विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया गया था।

भाजपा के दबाव में प्रशासन :

जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेश शर्मा ने बताया कि वे खुद भी एक व्यापारी हैं तथा व्यापारियों के बुलावे पर ही उक्त बैठक मे शामिल हुए थे। प्रशासन ने भाजपा नेताओं के दबाव में राजनैतिक दुर्भावना से प्रेरित होकर 4 माह बाद प्रकरण पंजीबद्ध किया है। उन्होंने कहा कि इस तरह की द्वेषपूर्ण कार्यवाहियां पहले भी होती रही हैं इससे वे डरने वाले नहीं है। किसान, व्यापारी और जनता के शोषण विरूद्ध उनका संघर्ष आगे भी जारी रहे।

इन्होंने ने भी किया था उल्लंघन :

बीती 8 जुलाई गुरूवार को समाचार पत्रों की सुर्खियां इस बात की गवाह थी कि बैठक में सैकड़ों की संख्या में व्यापारीगण उपस्थित थे, जिनमें रतन खण्डेलवाल, दिलीप सचदेव, नीरज चंदानी, चिनमन लाल खण्डेलवाल, नारायण गोयका, राजेश शर्मा, घनश्याम खट्टर, गोपाल खण्डेलवाल, ठाकुर दास सचदेव, तारा चंद राजपूत, दीपक छतवानी, संदीप शाहा, अमृतलाल यादव, अभिषेक अग्रवाल, घनश्याम दासवानी, महेश लालवानी, प्रकाश अग्रवाल, प्रशांत सोनी, अनिल गुप्ता, महेश राजपूत, प्रकाश सोनी, राजा छतवानी, ऋषि रिछारिया, दुर्गेश सोंधिया, मोनू सचदेव, नितेश राजवानी, यशवंत सोनी, नितिन बजाज, हिमांशु राजवानी, विनय शाह, राहुल रूंगटा, मुकेश अग्रवाल, माधव हेमनानी, विपन चंद गुप्ता, सूरज लालवानी व प्रशांत आहूजा जैसे व्यापारियों के नाम समाचारपत्रों में भी प्रकाशित हुए थे। जिन्होंने मॉस्क व सोशल डिस्टेंस जैसे नियमों का उल्लंघन करते हुए सैकड़ों की संख्या में धारा 188 का उल्लंघन किया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co