मजबूर मजदूर
मजबूर मजदूर|Social Media
मध्य प्रदेश

मजबूर मजदूर: सिग्नल फेल से मजदूरों में फैला आक्रोश स्टेशन पर लूटपाट

महासंकट के दौरान अन्य प्रदेशों में फंसे मजदूरों के लिए चलाई गई श्रमिक ट्रेने सिग्नल नहीं मिलने पर खड़ी रही स्टेशनों पर, मजदूरों के हाल बेहाल।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। देशभर में जहां कोरोना से संक्रमितों की संख्या में उतार चढ़ाव होता जा रहा है वहीं इसका संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है। बढ़ते संक्रमण से हर वर्ग को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन में बहुत से श्रमिक घरों से दूर फंसे हुए हैं और उनको घर पहुंचाने का सिलसिला जारी है। इस दौरान हो रही हैं अजीब परेशानियां...

सिग्नल नहीं मिलने से रुकी रहीं ट्रेने

इस संकट के दौरान महाराष्ट्र सहित अन्य प्रदेशों में फंसे मजदूरों के लिए चलाई गई श्रमिक ट्रेनें शुक्रवार से खंडवा के बीच आठ अलग-अलग स्थानों पर सिर्फ इसलिए खड़ी रहीं, क्योंकि उन्हें चलाने के लिए भोपाल से सिग्नल नहीं मिल रहे थे। ऐसे में ट्रेनों में सवार उप्र और बिहार से अधिक प्रवासी कामगार परेशान हुए।

हमारे यहां से कोई सिग्नल नहीं रोका गया है।

भोपाल मंडल के प्रवक्ता ने कहा

स्टेशन पर झड़प और लूटपाट

बता दें कि 15 विशेष ट्रेनें शुक्रवार को कई घंटों तक मध्यप्रदेश के खंडवा, बुरहानपुर व आसपास के स्टेशनों पर खड़ी रह गईं। इस दौरान मजदूरों को खाना-पीना नहीं मिला, ऐसे में मजदूरों का गुस्सा फूट पड़ा तभी बुरहानपुर में उन्होंने तोड़फोड़ मचा दी। बता दें कि इस बीच कुछ लोंगो ने स्टेशन पर बांटने के लिए रखी पानी की बोतलों की भी लूटपाट कर ली है।

यात्रियों के लिए भोजन-पानी का किया गया प्रबंध

इस बीच सरकार ने की ये सुविधा, नागरिकों को लेकर हमारे प्रदेश से गुज़र रही कुछ ट्रेन बुरहानपुर में अलग-अलग जगहों पर तकनीकी खामी के कारण रुकी हुई हैं। तपती धूप में यात्रियों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके लिए ज़िला कलेक्टर, प्रशासन और स्थानीय नागरिक अविलंब सेवाकार्य में जुटे हुए हैं!

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co