Raj Express
www.rajexpress.co
अवैध शराब के आरोपियों को पकड़ने में नाकाम रही पुलिस
अवैध शराब के आरोपियों को पकड़ने में नाकाम रही पुलिस|Gaurav Jain
मध्य प्रदेश

खण्डवा: अवैध शराब के आरोपियों को पकड़ने में नाकाम रही पुलिस

खंडवा, मध्य प्रदेश : अवैध शराब के आरोपियों को पुलिस पकड़ने तो पहुंची लेकिन शराब पकड़ने का उनका खेल पूरी तरह से फेल हो गया। पुलिस आरोपियों को पकड़ने में नाकाम रही

Gaurav Jain

राज एक्सप्रेस। अवैध शराब पकड़ने का अभियान नवागत पुलिस अधीक्षक डॉक्टर शिवदयाल सिंह गुर्जर द्वारा चलाया जा रहा है। इस दौरान सभी थाना प्रभारियों और चौकी प्रभारियों को निर्देश दिया गया है कि, गांव में बिकने वाली अवैध शराब पर नियंत्रण किया जाए। इसके तहत हरसूद थाना क्षेत्र की आशापुर पुलिस शुक्रवार को शराब पकड़ने तो पहुंची लेकिन शराब पकड़ने का उनका खेल पूरी तरह से फेल हो गया।

मामला हरसूद थाना क्षेत्र के आशापुर पुलिस चौकी का

दरअसल शुक्रवार की तड़के 4 बजे मुखबिर की सूचना पर शराब पकड़ने निकली आशापुर पुलिस एक बोलेरो जीप को पकड़ने में सफल तो रही लेकिन उसके आरोपियों को नहीं पकड़ सकी। देशी प्लेन मदिरा से भरी हुई यह बोलेरो जीप खण्डवा हरसूद रोड पर राई पेठिया रोड पर एक जंगल के रास्ते में डाल दी गई। बोलेरो जीप कीचड़ में फंसी तो परिवहनकर्ता जीप से कूद कर भाग गए ।

नामचीन कंपनी के रुतबे के आगे अधिकारी बेबस:

पुलिस बोलेरो जीप को आशापुर चौकी तक तो ले आई लेकिन दिनभर आरोपियों की खाक छानती रही। बताया जाता है कि देर शाम तक भी अवैध शराब परिवहन कर्ताओं के खिलाफ धारा 34/2 के तहत केस तो दर्ज कर लिया गया लेकिन आरोपी अभी भी अज्ञात ही थे। मालूम पड़ता है कि, अवैध शराब परिवहन में लिप्त एक कंपनी द्वारा इस मामले में दबाव डालकर आरोपियों को बेनकाब करने से रोका जा रहा है। अवैध शराब परिवहन करने वाली यह नामचीन कंपनी अपने रुतबे के चलते अधिकारियों से कुछ भी काम करवा लेती है। खालवा क्षेत्र में इसी कंपनी के लोगों ने चप्पे-चप्पे पर अवैध शराब की दुकानें खुलवा दी हैं। युवा नशे की गिरफ्त में हैं और अपना जीवन बर्बाद कर रहे हैं।

4 बजे पकड़ी शराब शाम तक आरोपी हाथ नहीं आए:

आशापुर चौकी प्रभारी सरोज मुवेल ने बताया कि शुक्रवार तड़के 4 बजे सूचना मिली थी की खण्डवा आशापुर मार्ग पर अवैध शराब का परिवहन एक बोलेरो जीप द्वारा किया जा रहा है । इसमें बड़ी मात्रा में देसी मदिरा शराब का परिवहन किया जा रहा है इस पर चौकी प्रभारी के साथ एसआई विरेंद्र सिंह बिसेन और प्रधान आरक्षक कोमल सिंह मौके पर पहुंचे घेराबंदी कर जीप को पकड़ने की कोशिश की गई लेकिन पेठिया रोड पर आरोपी चकमा देकर जीप छोड़कर भाग गए। पुलिस चौकी प्रभारी सरोज मुवेल के मुताबिक बोलेरो जीप से 32 पेटी अवैध देशी मदिरा शराब बरामद की गई है। अज्ञात आरोपी के खिलाफ 34/2 का प्रकरण दर्ज किया गया है।

कब तक चलता रहेगा अवैध शराब का काला कारोबार:

जिले में अवैध शराब का काला कारोबार तेजी से बढ़ रहा है जिसका जिम्मेदार अकेले पुलिस ही नहीं बल्कि आबकारी विभाग भी है। शुक्रवार को आशापुर के मामले को ही देखे तो समझ में आ जायेगा कि अवैध शराब कारोबार को रोकने की आबकारी विभाग की कोशिशें कहाँ तक मूर्तरूप ले पाती है? इसे आबकारी विभाग की लापरवाही कहें या लचर कार्यप्रणाली यहां आए दिन अवैध शराब के प्रकरण सामने आते हैं। आखिर कब तक चलता रहेगा अवैध शराब का काला कारोबार, क्या आबकारी विभाग से छुपकर किया जा रहा है यह कार्य या जानबूझकर आंखें मूंदे बैठा है।