175 आंदोलनकारी गिरफ्तार
175 आंदोलनकारी गिरफ्तार|Social Media
मध्य प्रदेश

खरगोन: हिंसक होते आंदोलन को रोकने बाढ़ प्रभावितों को किया गिरफ्तार

खरगोन, मध्यप्रदेश : जिला कलेक्ट्रेट के समक्ष 3 दिनों से पुनर्वास तथा मुआवजे की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे 175 आंदोलनकारियों को गिरफ्तार किया गया।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के खरगोन में जिला कलेक्ट्रेट के समक्ष तीन दिनों से पुनर्वास तथा मुआवजे की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे 175 आंदोलनकारियों के उग्र हो जाने के चलते उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) अभिषेक गहलोत ने बताया

मिली जानकारी के अनुसार जाग्रत आदिवासी दलित संगठन के बैनर तले सोमवार से कलेक्ट्रेट के समक्ष प्रदर्शन कर रहे 175 प्रदर्शनकारियों को उग्र हो जाने के चलते प्रतिबंधात्मक धारा 151 के अंतर्गत कल रात गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

उन्होंने बताया कि

कलेक्ट्रेट के समक्ष प्रदर्शनकारियों की जीआरए फोरम से प्रकरण वापस लेने की मांग पर जिला कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड ने उन्हें स्पष्ट किया है कि खारक डैम के 129 प्रभावितों का मामला है। इस फोरम में अंतिम चरणों में लंबित होने के चलते वापस न करते हुए उसी स्तर निराकृत किया जाना है। अन्य 55 प्रकरणों का जिला प्रशासन स्तर पर निराकरण कर एक महीने के अंदर भुगतान कर दिया जाएगा।

इसके अलावा शेष प्रकरणों का निराकरण भी फोरम स्तर पर 3 महीने की समयावधि में किए जाने की बात पर आंदोलन की नेत्री माधुरी कृष्णा स्वामी ने असहमति जताई और समस्त आंदोलनकारी जबरन कलेक्ट्रेट में अंदर प्रवेश करने लगे। इस बीच आंदोलनकारियों की पुलिस तथा प्रशासन के अधिकारियों से झड़प भी हुई। आंदोलनकारियों के घायल होने की आशंका के तहत उन्हें गिरफ्तार किया गया और जेल भेज दिया गया।

उन्होंने कहा कि, मंगलवार शाम भी आंदोलनकारियों ने कलेक्ट्रेट का मेन चैनल गेट तोड़कर अंदर प्रवेश करते हुए विभिन्न कक्षों में उपद्रव कर तोड़फोड़ की थी। इस संबंध में जिला कलेक्टर द्वारा कार्रवाई के लिए पुलिस अधीक्षक को पत्र प्रेषित किया गया था।

जिला कलेक्टर के पत्र पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 13 नामजद तथा अन्य 25 लोगों के विरुद्ध उपद्रव करने व शासकीय काम में बाधा डालने का प्रकरण भी दर्ज किया है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शशिकांत कनकने

उधर खरगोन में आंदोलनकारियों का समर्थन देने के लिए बड़वानी जिला कलेक्ट्रेट के समक्ष जाग्रत आदिवासी दलित संगठन के प्रदर्शनकारियों ने अनिश्चितकालीन धरना आरंभ कर दिया तथा उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को ज्ञापन भी सौंपा है। वहीं, जिला कलेक्टर ने कल नागरिकता संशोधन बिल पर हो रहे प्रदर्शनों के चलते पूरे जिले में आगामी 23 जनवरी तक निषेधाज्ञा लागू कर दी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co