दूध में मिलावट
दूध में मिलावट |Priyanka Yadav - RE
मध्य प्रदेश

मिलावटखोरी से लड़ने 'खुद परखो-खुद जानो' अभियान को मिल रही वाहवाही

मध्यप्रदेश में खाद्य पदार्थो में मिलावट का कलंक मिटाने के लिए सरकार ने समुदाय की भागीदारी बढ़ाने की पहल की है।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में जनता के समक्ष होगी पानी, फैट प्रोटीन एवं विभिन्न प्रकार की मिलावटों की जांच। आपको बताते चलें कि, राज्य की धरती पर खाद्य पदार्थो में मिलावट का कलंक मिटाने के लिए सरकार ने समुदाय की भागीदारी बढ़ाने की पहल की है। घर-घर की नैसर्गिक जरूरत दूध में मिलावट का दाग लगने के लिए शासन ने खुद परखो और खुद जानो अभियान चलाया है। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान की कड़ी का भी यह प्रमुख हिस्सा माना जा रहा है।

दूध में मिलावट का कलंक मिटाने समुदाय के बीच पहुंची सरकार

बता दें कि, पिछले दिनों दूध में मिलावट की हकीकत सामने आने के बाद स्वयं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने चिंता जाहिर की थी। नतीजतन जनता के समक्ष 'खुद परखो और खुद जानो अभियान' की शुरूआत की गई है। मध्यप्रदेश स्टेट को-आपरेटिव डेयरी फेडरेशन के प्रबंध संचालक नसीमउद्दीन का कहना है कि, दूध सहित इससे बनने वाले पदार्थो के प्रति जनता का अटूट विश्वास हमारे लिए आवश्यक है। यही कारण है कि, इस अभियान को प्रारंभ किया गया है।

प्रदेश के समस्त दुग्ध संघों द्वारा संचालित किया गया ये अभियान

प्रदेश के समस्त दुग्ध संघों द्वारा खुद परखो, खुद जानो अभियान संचालित किया गया है। इसमें उपभोक्ताओं को दूध की सुविधा एवं परीक्षण की सुविधा उनके द्वार पर नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जा रही है। अभियान के अंतर्गत विभिन्न स्थानों पर दुग्ध संघों द्वारा दिए गए दूध के किसी भी ब्रांड के या खुले दूध के नमूने को जनता के समक्ष जांच कर परिणामों से तत्काल अवगत करवाया जा रहा है। परीक्षण के दौरान दूध में पानी, फैट प्रोटीन एवं विभिन्न प्रकार की मिलावटों की जांच की जा रही है। मुख्यमंत्री के 'शुद्ध के लिए युद्ध' अभियान का एक महत्वपूर्ण अंग है।

अभियान के अंतर्गत जांच परिणाम के साथ भारतीय खाद्य सुरक्षा मानक अभियान 2006 के अनुसार, दूध एवं दुग्ध पदार्थो के लिए निर्धारित मापदंडों से भी उपभोक्ता को अवगत कराया जा रहा है। अभियान से उपभोक्ता स्वयं उत्तम गुणवत्ता के दूध एवं दुग्ध पदार्थो का चयन कर सकता है। इस अभियान को आमजनता का भरपूर सहयोग मिल रहा है। इसके अलावा दूध में मिलावट के संबंध में लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

आपको बताते चलें कि, सांची दुग्ध संघ की निरन्तर हो रही खराब छवि के कई मामले आ चुके हैं, नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर-

'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान' को ठेंगा दिखाते साँची दूध सप्लायर

साँची दूध मिलावट ने पकड़ा तूल : सीईओ को हटाने की मांग

साँची की साख में आई गिरावट का दूर करने अधिकारियों ने की मंथन बैठक

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co