Raj Express
www.rajexpress.co
Ladli Laxmi Yojana
Ladli Laxmi Yojana|Mukesh Choudhary
मध्य प्रदेश

शिवपुरी: 'लाड़ली लक्ष्मी योजना' का तोहफा-बेटियों के विवाह की चिंता अब नहीं

शिवपुरी: गरीब परिवार में बेटी के जन्म होते ही माता-पिता खुशी के साथ विवाह के लिए चिंतित हो जातेे हैं, ऐसे में 'लाड़ली लक्ष्मी योजना' एक संबल की तरह है, इसके तहत 1 लाख 18 हजार की राशि दी जाती है।

Mukesh Choudhary

राज एक्‍सप्रेस। परिवार में बच्चे के जन्म से पूरे परिवार को खुशी होती है, सबसे ज्यादा खुश माता-पिता ही होते हैं, परन्तु आर्थिक रूप से कमजोर परिवार में बेटी का जन्म होता है, तो माता-पिता खुशी के साथ ही उसके विवाह के लिए चिंतित हो जातेे हैं। दहेज जैसी सामाजिक कुरीति ने बेटी के विवाह को माता-पिता की चिंता में तब्दील कर दिया है, परन्तु 'लाड़ली लक्ष्मी योजना' (Ladli Laxmi Yojana) एक गरीब परिवार में माता-पिता के लिए एक संबल की तरह है और इस योजना के तहत एक लाख 18 हजार रूपए की राशि प्रदान की जाती है।

लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रमाण-पत्र सौंपे :

बुधवार को 'आपकी सरकार-आपके द्वार' कार्यक्रम में अस्मिता धमन्या पुत्री श्रीमती वर्षा- रवि, कु. यशस्वी तिवारी, पुत्री श्रीमती रश्मि- विकास एवं कु.हिमानी खटीक पुत्री प्रियंका-आनंद को 'लाड़ली लक्ष्मी योजना' के प्रमाण-पत्र सौंपे गए। प्रमाण-पत्र लेकर उनकी माताओं के चहरे पर मुस्कान थी। उन्हें विधायक जसमंत जाटव एवं कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने 'लाड़ली लक्ष्मी योजना' के प्रमाण-पत्र सौंपे। वहीं तीनों बालिकाओं की माताओं का कहना है कि, वर्तमान में मंहगाई के इस दौर में एक साधारण परिवार के लिए भरण-पोषण भी मुश्किल हो जाता है।

बेटी की शादी के खर्च के लिए बड़ी राशि जुटाना कठिन :

बच्चों को अच्छी शिक्षा देना भी एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है और बच्चों के अच्छे भविष्य के लिए भी छोटी-मोटी बचत भी करते हैं, परन्तु बेटी की शादी के खर्च के लिए बड़ी राशि जुटाना बड़ा ही कठिन है। बालिकाओं के माता-पिता का कहना है कि, हर माता-पिता का यह सपना होता है कि, वह अपनी बेटी की शादी धूम-धाम से करें। ऐसे में यदि आर्थिक स्थिति ठीक नहीं तो, यह सपना फीका पड़ जाता है, लेकिन 'लाड़ली लक्ष्मी योजना' अवश्य ही इसमें सहारा बनी है। इसके लिए उन्होंने सरकार एवं प्रशासन दोनों का आभार भी व्यक्त किया है।