ग्वालियर : बुलंदी पर लालसिंह, गर्दिश में प्रभात झा के सितारे

ग्वालियर : राजनीति में सभी दिन एक समान नहीं होते, कभी सितारे बुलंदियों पर होते हैं तो कभी गर्दिश में पहुंच जाते हैं। प्रभात राष्ट्रीय संगठन से बाहर, अनूसूचित जाति के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने लालसिंह।
ग्वालियर : बुलंदी पर लालसिंह, गर्दिश में प्रभात झा के सितारे
बुलंदी पर लालसिंह, गर्दिश में प्रभात झा के सितारेRaj Express

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। राजनीति में सभी दिन एक समान नहीं होते, कभी सितारे बुलंदियों पर होते हैं तो कभी गर्दिश में पहुंच जाते हैं। भाजपा राष्ट्रीय संगठन में उपाध्यक्ष रहे प्रभात झा और पूर्व मंत्री लालसिंह आर्य पर यह बात बिल्कुल चरितार्थ हो रही है।

राज्यसभा सदस्य और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे प्रभात झा का राष्ट्रीय कार्यकारिणी से पत्ता साफ हो गया है, वहीं गोहद से विधायक चुने गए लालसिंह आर्य को अनुसूचित जाति मोर्चा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है।

पत्रकारिता से राजनीति में आए प्रभात जब राज्यसभा सदस्य चुने जाने के बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चुने गए तो प्रदेश में उनका जलवा देखने लायक था। आए दिन अलग बयानों से वे सुर्खियों में बने रहते थे। सिंधिया परिवार पर भी टिप्पणी उन्हें सुर्खियां दिलाती थीं। नेतापुत्रों को लेकर उन्होंने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह पर भी बिना नाम लिए टिप्पणी की थी। उनके पुत्र तुष्मुल झा के पोस्टर भी शहर के चौराहों पर नजर आते थे, लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा मेें आने के बाद प्रभात झा हशिए पर चले गए और न तो उनका कोई भी बयान सामने आया, लेकिन अब राष्ट्रीय संगठन से भी पत्ता साफ होने के बाद उनके राजनैतिक भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लग गया है।

उधर 24 हजार वोटों से गोहद विधानसभा का चुनाव हारे लालसिंह आर्य के भविष्य को लेकर भी असमंजस की स्थिति बन रही थी, क्योंकि कांग्रेस से भाजपा में आए रणवीर सिंह जाटव उपचुनाव में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है तो ऐसे में लालसिंह के राजनैतिक कैरियर को लेकर उहापोह की स्थिति थी, लेकिन भाजपा हाईकमान ने अनूसूचित जाति मोर्चे का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाकर उनका कद बढ़ा दिया है। अब यह उनकी राजनैतिक कुशलता पर निर्भर है कि इसे वे कैसे आगे ले जाते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co