सरकारी जमीनों पर भू-माफियाओं ने बनाएं मैरीज गार्डन, प्रशासन का चला हथौड़ा
सरकारी जमीनों पर भू-माफियाओं ने बनाएं मैरीज गार्डन, प्रशासन का चला हथौड़ाSocial Media

सरकारी जमीनों पर भू-माफियाओं ने बनाएं मैरीज गार्डन, प्रशासन का चला हथौड़ा

संत हिरदाराम नगर, मध्यप्रदेश : इंदौर भोपाल रोड़ पर ग्रीन बेल्ट और तालाब किनारे बने अवैध मैरीज गार्डन और होटल पर चला प्रशासन का हथौड़ा।

संत हिरदाराम नगर, मध्यप्रदेश। खजूरी थाना क्षेत्र अंतर्गत भेसाखेड़ी के पास स्थित शासकीय रास्ते पर आकाश मैरीज गार्डन और सन सिटी मैरीज गार्डन के संचालकों द्वारा कब्जा किया गया था। इस सरकारी जमीन पर किए गए कब्जे को एसडीएम और जिला प्रशासन द्वारा रविवार को हटा दिया गया।

इन दोनों लोगों द्वारा लगभग चार से पांच करोड़ की जमीन पर कब्जा किया गया था। शनिवार को भी इसे लेकर विवाद की स्थिति पैदा हुई थी, लेकिन रविवार को एसडीएम हुजूर ने मौके पर पहुंचकर सरकारी जमीन पर किए गए कब्जे को हटाया। एसडीएम मनोज उपाध्याय ने बताया कि आकाश मैरीज गार्डन के संचालक जवाहर संभावानी और सन सिटी मैरीज गार्डन के संचालक श्याम सुंदर गोपलानी द्वारा किसानों के रास्ते पर कब्जा किया था। श्री उपाध्याय ने बताया कि भू-माफियाओं ने पिलर बनाकर उस पर कब्जा किया था। उनका कहना है कि कब्जे को हटाने से सीमाकंन किया गया। एसडीएम ने बताया कि मैरीज गार्डन के संचालक श्री गोपलानी ने इंदौर एनएचआई की जमीन पर कब्जा किया था,उस कब्जे को भी हटाया गया। अधिकारियों ने बताया कि मिनीमम चौड़ाई 34 वर्ग फिट मैग्जीमम 45 फिट है जबकि लोगों ने 15 - 20 छोड़कर सरकारी जमीन पर कब्जा किया हुआ है। उन्होंने कहा ग्रामीण रास्तों और एनएचएआई का संपूर्ण सदउपयोग लोग कर सके इसके लिए यह अवैध कब्जे हटाएं गए हैं। प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि लोग इस मामले में तरह-तरह के कागज भी लेकर आए और शासकीय जमीन को कब्जे से मुक्त करने की कार्रवाही की गई।

शनिवार को बनी विवाद की स्थिति :

शनिवार को भी यहां विवाद की स्थिति बन गई और यहां पर मौजूद लोगों और किसानों ने कहा कि आवागमन मार्ग पर अतिक्रमण किया जा रहा है जहां सालों से रास्ता था उसे बन्द किया जा रहा है इसकी शिकायत मिलते ही मौके पर एसडीएम मनोज उपाध्याय और तहसीदार पहुँचे और फिलहाल काम रुकवा दिया है एसडीएम ने बताया कि मैरिज गार्डन संचालक गड्ढे भरवाकर फेंसिंग का कार्य कर रहे थे। गौरतलब है कि गत दिवस भी जब बाउंड्रीवाल का काम किया जा रहा था तो मौके पर 20 से 25 लोग आए थे। इस मार्ग पर अवैध तरीके से मैरीज गार्डन संचालकों और होटल व्यवसाइयों ने सरकारी जमीनों पर कब्जे कर रेस्टोरेन्ट बनाए रखे हैं। यह रेस्टोरेंट जब बनाए जाते हैं उस समय अधिकारी किस गहरी नींद में सोते हैं, यह समझ से परे है।

क्या कहना है इनका :

जवाहर और श्री गोपलानी द्वारा सरकारी जमीन पर पिलर बनाकर कब्जा किया गया था,रविवार को उस कब्जे को प्रशासन के अधिकारियों द्वारा हटा दिया गया। सरकारी जमीनों पर जो लोग कब्जा कर रहे हैं, उनसे निपटने के लिए सरकारी द्वार सख्त आदेश दिए गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.