शहडोल : कोड़ियों में ली थी जमीन, अब नटवरलाल की टीम लाखों में कर रहे सौदे

शहडोल, मध्य प्रदेश : आधा दर्जन आरोपियों ने जयसिंहनगर के सेमरपाथा में ली है पनाह। वर्षाे पहले सांई प्रकाश चिटफंड कंपनी ने पॉवर प्लांट के ख्वाब दिखा, ली थी जमीन।
शहडोल : कोड़ियों में ली थी जमीन, अब नटवरलाल की टीम लाखों में कर रहे सौदे
कोड़ियों की ज़मीन अब लाखों मेंAfsar Khan

शहडोल, मध्य प्रदेश। जयसिंहनगर के सेमरपाथा में 6 से 8 वर्ष पहले पुष्पेन्द्र सिंह बघेल नामक नटवरलाल जो जयसिंहनगर जनपद में उपाध्यक्ष भी रहे हैं, इनके द्वारा बनाई गई सांई प्रकाश चिटफंड नामक कंपनी ने प्रदेश सहित राजस्थान, उड़ीसा, झारखंड, छत्तीसगढ़ व नोएडा में अपने कार्यालय खोले तथा करोड़ों का वारा-न्यारा किया तथा कथित नटवरलाल और उसकी पत्नी तथा आधा दर्जन अन्य आरोपियों ने अपने क्षेत्र को भी नहीं बख्शा, पड़ोस के उमरिया जिले के बल्हौड़ में कास्तकारों की लगभग 400 एकड़ भूमि पॉवर प्लांट की स्थापना तथा उसमें नौकरी के दिवास्वप्न दिखाकर कौड़ियों में ले ली गई, न तो पॉवर प्लांट लगा और न ही नौकरी मिली, लगभग 8 वर्षाे बाद दलालों के माध्यम से कास्तकारों की भूमि के सौदे होना शुरू हो गये हैं।

फरार आरोपी छुपे गांव में :

पुष्पेन्द्र सिंह बघेल को फर्जी चिटफंड कंपनी चलाने और लोगों से ठगी करने के मामले में वर्षाे पहले इन्दौर से गिरफ्तार किया गया था, वह मूलत: जिले के जयसिंहनगर अंतर्गत सेमरपाथा का मूल निवासी था, कई वर्षाे तक कुछ जेल में रहे और कुछ फरार रहे, लॉकडाउन के दौरान अचानक इनकी गृह ग्राम में लोकेशन मिलने लगी, खबर है कि पुष्पेन्द्र की पत्नी पुष्पांजलि सिंह बघेल, धीरेंद्र सिंह बघेल, राजू सिंह बघेल, मृगेद्र सिंह बघेल, उपेंद्र सिंह बघेल, सहेंद्र सिंह बघेल आदि की एक तरफ पुलिस को तलाश है, दूसरी तरफ गांव में भ्रमजाल फैलाकर यह सभी खुलेआम अपनी वापसी कर चुके हैं। यही नहीं अब इन्होंने वर्षाे पहले बल्हौड़ में धोखाधड़ी से खरीदी जमीनों के सौदे कर रकम खड़ी करना शुरू कर दिया है।

आधा दर्जन दलाल और लग्जरी वाहन :

जयसिंहनगर सेमरपाथा, रेउसा और इससे सटे उमरिया जिले के बल्हौड़ क्षेत्र में लग्जरी गाड़ियां और नये चेहरों की भरमार है, वर्षाे पहले साईं प्रकाश चिटफंड कंपनी के नाम से 400 एकड़ जमीन जो खरीदी गई थी, उसमें गांव बल्हौंड के ही दो दलाल जिनका नाम राम सुमिरन द्विवेदी और एक का नाम राम नारायण द्विवेदी है, रामनारायण द्विवेदी साईं प्रकाश कंपनी के अध्यक्ष भी थे, यह दोनों लोग जितनी जमीन खरीदी गई है, सब जमीन की रजिस्ट्री में इन्हीं दोनों लोगों के दस्तखत हैं, रजिस्ट्री यह 5000 लेते थे और साईं प्रकाश कंपनी की इनोवा गाड़ी आज भी उदय भान उपाध्याय चढ़ रहा है। यह भी खबर है कि पुष्पांजलि सिंह ने जमीन बेचने का एग्रीमेंट राज नारायण भट्ट के नाम बनवाया है। जिसे 200000 प्रति एकड़ में एग्रीमेंट किया है और 360000 प्रति एकड़ बेच रहा।

नौकरी के दिखाये थे सपने :

शहडोल जिले के रेउसा सेमरपाथा के रहने वाले पुष्पेन्द्र सिंह बघेल जो कि सांई प्रकाश चिटफंड कंपनी के सीएमडी हैं, उसके द्वारा अपने भाई और परिजनों के साथ मिलकर बल्हौड़ के किसानों और ग्रामीणों को पॉवर प्लांट लगाने के नाम पर जमीन हड़प ली, उन्हें यह सपना दिखाया गया था कि प्लांट लगते ही सभी ग्रामीण जिनकी जमीन आधे कीमत पर ली गई थी, उन्हें नौकरी दी जायेगी, लेकिन नटवरलाल सलाखों के पीछे पहुंच गये और ग्रामीण अभी भी नौकरी की राह देख रहे हैं।

4 राज्यों में दर्ज है एफआईआर :

सांई प्रकाश चिटफंड कंपनी के पुष्पेन्द्र सिंह बघेल को जालसाजी के आरोप में जेल जाने के बाद सीबीआई भुवनेश्वर की टीम ने जनवरी 2020 में भाई रणविजय सिंह बघेल को गिरफ्तार किया था, वहीं पुष्पेन्द्र के अलावा चार भाईयों और पत्नी सहित अन्य लोगों के नाम पर भी राजस्थान, उड़ीसा, झारखंड, छत्तीसगढ़ में एफआईआर दर्ज है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co