किरायेदारों के पुलिस वेरिफिकेशन को लेकर मकान मालिक व पुलिस निष्क्रिय

सिंगरौली, मध्य प्रदेश : सिंगरौली जिले में किराएदार के वेरिफिकेशन को लेकर न तो मकान मालिक रुचि ले रहे हैं और दूसरी तरफ न तो पुलिस।
किरायेदारों के पुलिस वेरिफिकेशन को लेकर मकान मालिक व पुलिस निष्क्रिय
किरायेदारों का वेरिफिकेशनSyed Dabeer Hussain - RE

सिंगरौली, मध्य प्रदेश। किसी भी व्यक्ति को घर या कमरा किराए पर देने के पूर्व किराएदार का पुलिस वेरिफिकेशन करवाना महत्वपूर्ण कदम है जिसमें की मकान मालिक की भूमिका अहम हो जाती है तो वही स्थानीय पुलिस को भी ऐसे मामलों पर वेरिफिकेशन को लेकर सख्त रवैया अपनाना चाहिए परंतु सिंगरौली जिले में जो देखने में आ रहा है वह पूरी तरह से विपरीत है यहां पर किराएदार का वेरिफिकेशन को लेकर न तो मकान मालिक रुचि ले रहे हैं और दूसरी तरफ न तो पुलिस।

प्रवासियों की संख्या बहुतायत :

मध्य प्रदेश का सिंगरौली जिला वैसे तो ऊर्जा नगरी के नाम से विख्यात है और इसके साथ-साथ औद्योगिक नगरी का टैग भी जिले को मिला हुआ है जिले में कई नामी-गिरामी सरकारी एवं प्राइवेट सेक्टर की कंपनियों ने अपना ठिकाना बनाया हुआ है जिले में एनटीपीसी, रिलायंस, एस्सार, जेपी विद्युत उत्पादन से लेकर नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड, जेपी कोयले का उत्पादन एवं हिंडाल्को इंडस्ट्रीज जैसे प्लांट जोकि एलुमिनियम बनाते हैं जिले में स्थापित हैं। औद्योगिक नगरी होने के नाते जिले में बहुत सारे लोग जो कि अन्य जिलों या अन्य राज्यों के रहने वाले हैं वह सिंगरौली जिले में कार्य को लेकर निवास करते हैं तो ऐसे में आवश्यकता हो जाती है कि लोगों की सुरक्षा एवं अपराध के नियंत्रण को लेकर पुलिस विभाग के पास में अन्य क्षेत्रों प्रांतों से आए हुए व्यक्तियों का दस्तावेज उपलब्ध हो ताकि किसी बड़ी घटना या अनहोनी से बचा जा सके।

हजारों की तादात में मौजूद हैं प्रवासी मजदूर :

जिले में कई कंपनियां जिन्हें स्थानीय कंपनियों के द्वारा कार्यों के लिए टेंडर प्रदान किया गया टेंडर प्राप्त करने वाली कंपनियां अपने साथ सिंगरौली जिले में सैकड़ों की तादाद में मजदूरों को लेकर आती हैं इसके साथ ही या देखने में आया है कि ऐसे मजदूर जो कि कंपनी के साथ में आए हुए हैं इनके दस्तावेज स्थानीय पुलिस के पास में मौजूद नहीं होते। तो वही कंपनियों के आसपास के इलाकों में मजदूर या कंपनी प्रबंधन के लोग किराए के मकान में रहते हैं जिनका वेरिफिकेशन नहीं होता है।

किरायेदारों के पुलिस वेरिफिकेशन को लेकर एडिशनल एसपी ने दिए आदेश :

किरायेदारों का पुलिस वेरिफिकेशन को लेकर किए गए सवाल पर जिले के उप पुलिस कप्तान के द्वारा संबंधित मामले को गंभीरता से लेते हुए वेरिफिकेशन को लेकर समस्त थाना चौकियों पत्र लिखकर आदेश दिया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co