आधुनिक युग के सर्वश्रेष्ठ वीर रस के कवि 'रामधारी सिंह दिनकर' की जयंती पर नेताओं का नमन संदेश

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज ज्ञानपीठ एवं पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की जयंती है। इस मौके पर मध्यप्रदेश के कई नेताओं ने ट्वीट कर उन्हें नमन किया है।
'रामधारी सिंह दिनकर' की जयंती
'रामधारी सिंह दिनकर' की जयंतीSocial Media

भोपाल, मध्यप्रदेश। देश के महान साहित्यकार, आधुनिक युग के श्रेष्ठ वीर रस के कवि, ज्ञानपीठ एवं पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित राष्ट्रकवि रामधारी सिंह 'दिनकर' की आज जयंती है। रामधारी सिंह 'दिनकर' की जयंती पर देश उन्हें याद कर शत-शत नमन कर रहा है। इस मौके पर मध्यप्रदेश के कई नेताओं ने ट्वीट कर उन्हें नमन किया है।

23 सितंबर 1908 को हुआ था दिनकर का जन्म :

बता दें, रामधारी सिंह दिनकर (Ramdhari Singh Dinkar) का जन्म बिहार के बेगूसराय जिले के सिमरिया गांव में 23 सितंबर 1908 को हुआ था। रामधारी सिंह दिनकर हिन्दी के एक प्रमुख लेखक, कवि व निबन्धकार थे।वे आधुनिक युग के श्रेष्ठ वीर रस के कवि के रूप में स्थापित हैं। राष्ट्रवाद अथवा राष्ट्रीयता को इनके काव्य की मूल-भूमि मानते हुए इन्हे 'युग-चारण' व 'काल के चारण' की संज्ञा दी गई है।

रामधारी सिंह दिनकर की जयंती सीएम ने ट्वीट कर लिखा-

मध्यप्रदेश के मुख्मयंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लिखा- अपनी विद्रोह और क्रांति से भरपूर कविताओं के माध्यम से राष्ट्रवाद की भावना जागृत कर देने वाले राष्ट्रकवि रामधारी सिंह 'दिनकर' जी की जयंती पर कोटिश: नमन् करता हूं! आपकी अद्वितीय, अमूल्य और ओजस्वी कविताएं हिन्दी भाषा की समृद्धि का सशक्त आधार रहेंगी और हृदय को सुवासित करती रहेंगी।

नरोत्तम मिश्रा ने किया ट्वीट

कवि 'रामधारी सिंह दिनकर' की जयंती पर मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा- राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत और जीवन संघर्ष की प्रेरणा देने वाले राष्ट्रकवि रामधारी सिंह 'दिनकर' जी की जयंती पर सादर नमन और विनम्र श्रद्धांजलि। हिंदी साहित्य के इतिहास में दिनकर जी का योगदान अतुलनीय है।

मंत्री सारंग ने किया ट्वीट :

मंत्री सारंग ने ट्वीट कर लिखा कि, मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है...-दिनकर जी भारतीय काव्य जगत के 'दिवाकर', राष्ट्रीय चेतना के ओजस्वी स्वर, 'राष्ट्रकवि' रामधारी सिंह 'दिनकर' जी की जयंती पर उन्हें कोटिशः नमन। आपकी कालजयी रचनाएं युग-युगांतर तक हम सभी को राष्ट्र आराधना के लिए प्रेरित करती रहेंगी।

पीसी शर्मा ने किया ट्वीट :

कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने ट्वीट कर लिखा- समर शेष है, नहीं पाप का भागी केवल व्याध, जो तटस्थ हैं, समय लिखेगा उनके भी अपराध। आधुनिक युग के सर्वश्रेष्ठ वीर रस के कवि ‘रामधारी सिंह दिनकर' जी की जयंती पर सादर नमन।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co