विदाई की ओर मानसून, अब तेज बारिश के आसार कम
तेज धूप ने मौसम में वही गर्मी और उमस संवाददाता दमोह

विदाई की ओर मानसून, अब तेज बारिश के आसार कम

सुबह की शुरुआत तेज धूप के साथ हुई दोपहर में कुछ समय के लिए बादल छाए। इससे मौसम तो सुहाना हुआ लेकिन कुछ समय बाद बादल हटे और एक बार फिर तेज धूप ने मौसम में वही गर्मी और उमस ला दी।

दमोह, मध्य प्रदेश। रविवार को मौसम की अठखेलियां कुछ समय तक जारी रही। सुबह की शुरुआत तेज धूप के साथ हुई दोपहर में कुछ समय के लिए बादल छाए। इससे मौसम तो सुहाना हुआ लेकिन कुछ समय बाद बादल हटे और एक बार फिर तेज धूप ने मौसम में वही गर्मी और उमस ला दी। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार मंगलवार को राजस्थान और उससे लगे मध्य प्रदेश पर एक प्रति चक्रवात बनने जा रहा है और इस सिस्टम के प्रभाव से वातावरण में नमी भी कम होने लगेगी।

सामान्य से कम रह गई बारिश

मौसम की लगातार बेरुखी से औसत के कम बारिश की आशंका सही साबित होती दिख रही है और वर्तमान में सामान्य से कम ही बारिश दर्ज हुई है। आंकड़ों के अनुसार जिले में अभी तक 650 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है, जोकि सामान्य से 200 मिली मीटर कम है। दमोह में औसत बारिश 1246.6 मिलीमीटर है। वहीं मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार भी अब तेज बारिश के आसार कम ही हैं, जिससे बड़े सुधार की गुंजाईश भी नहीं दिख रही है।

हल्की बौछारों से करना होगा संतोष

वर्तमान में पश्चिमी मध्य प्रदेश पर विपरीत दिशा की हवाओं का टकराव हो रहा है। इसके प्रभाव से कुछ स्थानों पर हल्की बौछारें पड़ रही हैं। 2 दिन बाद राजस्थान पर प्रति चक्रवात बनने के बाद बारिश की गतिविधियां थमने लगेंगी और साथ ही राजस्थान से मानसून की वापसी होने लगेगी। 10 अक्टूबर तक मध्यप्रदेश के मानसून की विदाई होने के आसार हैं।

गर्मी चरम पर उमस से लोग परेशान

कम बारिश होने के कारण गर्मी भी चरम पर है और उमस से लोग काफी परेशान हैं। अधीक्षक भू अभिलेख वर्षा दुबे ने बताया कि रविवार को दमोह का तापमान अधिकतम 34.6 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम 25.0 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं शनिवार को अधिकतम 35.0 न्यूनतम 24.6 दर्ज किया गया। इसके अलावा शुक्रवार को अधिकतम 34.5 न्यूनतम 24.6, गुरुवार को अधिकतम के 33.4 न्यूनतम 24,6, बुधवार को अधिकतम 33.5 न्यूनतम 25.0 मंगलवार को अधिकतम 33.4, न्यूनतम 24.2, सोमवार को 32.0 अधिकतम 22.0 दर्ज किया गया है। ऐसे में क्रमश: तापमान में बढ़ोत्तरी ही देखी जा रही है जो लोगों के लिए परेशानी का सबब बन रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.