बाल-बाल बचे पूर्व सीएम कमलनाथ, अस्पताल की लिफ्ट 12 फीट ऊंचाई से नीचे गिरी
बाल-बाल बचे पूर्व सीएम कमल नाथ, अस्पताल की लिफ्ट 12 फीट ऊंचाई से नीचे गिरीSocial Media

बाल-बाल बचे पूर्व सीएम कमलनाथ, अस्पताल की लिफ्ट 12 फीट ऊंचाई से नीचे गिरी

इंदौर, मध्य प्रदेश : पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ रविवार को पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल की तबियत देखने इंदौर के डीएनएस अस्पताल पहुंचे, जहां वे खुद हादसे का शिकार होते-होते बचे।

इंदौर, मध्य प्रदेश। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ रविवार को इंदौर के डीएनएस अस्पताल पहुंचे। यहां वे पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल की तबियत देखने पहुंचे थे। लेकिन यहां पूर्व सीएम समेत कांग्रेस के कई दिग्गज नेता हादसे के शिकार होते-होते बच गए।

दरअसल जब पूर्व सीएम कमलनाथ पहुंचे तो वे लिफ्ट से जा रहे थे। उनके साथ विधायक सज्जन वर्मा, जीतू पटवारी, विशाल पटेल भी लिफ्ट में मौजूद थे। लिफ्ट ओवरलोडिंग के चलते नीचे गिर गई। लिफ्ट में धूल और धुएं का गुबार भरा गया, लिफ्ट के दरवाजे लॉक हो गए और करीब 10 से 15 मिनट बाद बमुश्किल औज़ार ढूंढ कर लिफ्ट का लॉक खोला गया। हालांकि किसी को भी चोटें नहीं आयी। हादसे की जांच के आदेश दिए गए। बताया जाता है कि अस्पताल की लिफ्ट करीब 12 फीट ऊंचाई से गिरी। वहीं डीएनएस अस्पताल प्रबंधन के ध्रुव संघवी ने बताया कि लिफ्ट में मैं भी था, किसी को चोट नहीं आई। लिफ्ट थोड़ी नीचे बैठ गई। हमने अस्पताल में नई लिफ्ट लगवाई है। हालांकि? खासी मशक्कत के बाद कमल नाथ को निकाला गया।

मजिस्ट्रियल जांच के आदेश :

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार कलेक्टर द्वारा हास्पिटल में लिफ़्ट दुर्घटना की जांच कराई जाएगी। कलेक्टर मनीष सिंह ने हास्पिटल में लिफ्ट की खराबी और दुर्घटना पर मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। कलेक्टर द्वारा हिमांशु चंद्र को जांच के लिए आदेशित किया गया है।

कांग्रेस ने लगाया-सुरक्षा में बड़ी चूक व लापरवाही का आरोप :

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के रविवार को इंदौर के डीएनएस अस्पताल में वरिष्ठ कांग्रेस नेता रामेश्वर पटेल की तबियत देखने जाते के समय लिफ्ट के गिर जाने की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। यह सुरक्षा में बड़ी लापरवाही व चूक है। इसकी जांच हो और अस्पताल प्रबंधन पर कार्रवाई हो। उनके अनुसार इस अस्पताल का निर्माण अभी-अभी हुआ है।

इससे पहले रविवार को कांग्रेस के संभागीय कार्यकर्ता सम्मेलन में भाषण देते कमल नाथ बीच-बीच में हो रही नारेबाजी से भड़क गए। नारेबाजी कर रहे कार्यकर्ताओं को डपटते हुए उन्होंने कह दिया कि आप बंद करते हैं या मैं बंद कर दूं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co