नये साल पर भोपाल में महंगी बिक रही शराब, एमआरपी से ज्यादा वसूल रहे दुकानदार
नये साल पर भोपाल में मंहगी बिक रही शराबसांकेतिक चित्र

नये साल पर भोपाल में महंगी बिक रही शराब, एमआरपी से ज्यादा वसूल रहे दुकानदार

भोपाल, मध्य प्रदेश : नये साल का मौका मय के शौकीनों के लिए किसी त्यौहार से कम नहीं है, ऐसे में शहर के शराब बिक्रेता भी मौके का फायदा उठाने में पीछे नहीं रहे।

भोपाल, मध्य प्रदेश। नये साल का मौका मय के शौकीनों के लिए किसी त्यौहार से कम नहीं है, ऐसे में शहर के शराब विक्रेता भी मौके का फायदा उठाने में पीछे नहीं रहे। गुरूवार 31 दिसंबर से ही शहर की ज्यादातर शराब दुकानों पर सभी ब्रांड की शराब मंहगी बिक रही है, यह सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा। एक क्वॉटर पर 20 से 30 तो वहीं बोतलों पर 50 रूपये से भी ज्यादा ग्राहकों से वसूले जा रहे हैं। मजे की बात यह है कि, आबकारी विभाग को इसकी कोई भनक ही नहीं है, या फिर विभाग के अफसरों ने ही ठेकेदारों को मंहगी शराब बेचने की छूट दे रखी है।

दरअसल नये साल के एक दिन पहले से ही बड़ी संख्या में लोग जश्र मनाने के लिए शराब खरीदने पंहुचने लगे थे, इधर लगभग सभी दुकानों पर आम दिनों से ज्यादा भीड़ गुरूवार और शुक्रवार को भी नजर आई, दूसरी तरफ आज शनिवार और कल रविवार होने से आने वाले दो दिन भी लोग जश्र मनाते रहेंगे, ऐसे में शराब की रिकार्ड बिक्री हो रही है, इस मौके को पहले से भांपते हुए ही शहर के कई शराब दुकान संचालकों ने तुंरत शराब के सभी ब्रांड़ों के दाम अघोषित तौर पर बढ़ा दिये हैं। एमएसपी तो छोड़िये एमआरपी से भी ज्यादा पैसे लोगों से वसूल किये जा रहे हैं, कुछ शराब दुकानों पर तो रेट लिस्ट ही गायब कर दी गई है। इधर जश्र मनाने और नशे में डूबने को बेचैन लोग तय रेट से 20 से लेकर 50 रूपये और उससे ज्यादा तक देकर शराब खरीद रहे हैं। अगर नियमों की बात की जाए तो तय रेट से ज्यादा पर शराब नहीं बेची जा सकती, वह भी तब जबकि पर्याप्त स्टॉक मौजूद हो। इसके लिए आबकारी विभाग ने सभी दुकानों पर रेट लिस्ट लगाने के निदेश भी दिये थे, जिसे ज्यादातर दुकान संचालकों ने औपचारिकता की तरह ऐसे लगाया कि, ग्राहक उसे देख ही नहीं पाते। वहीं दूसरी तरफ आबकारी विभाग की नाक के नीचे बीते दो दिनों में ही संचालकों ने मंहगी शराब बेचकर विभाग को लाखों रूपये के राजस्व का चूना लगा डाला है। इधर ग्राहकों को भी मंहगी शराब मिल रही है, विभाग ने जानते हुए भी ना तो दुकानों पर चैकिंग की और ना ही कोई एक्शन लिया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co