शराबबंदी होना चाहिए, क्योंकि बिहार,गुजरात उदाहरण है : उमा भारती
शराबबंदी होना चाहिए, क्योंकि बिहार,गुजरात उदाहरण है : उमा भारतीSocial Media

शराबबंदी होना चाहिए, क्योंकि बिहार,गुजरात उदाहरण है : उमा भारती

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का कहना है कि शराबबंदी होना चाहिए, क्योंकि इसके लिए हमारे सामने बिहार व गुजरात उदाहरण है।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का कहना है कि शराबबंदी होना चाहिए, क्योंकि इसके लिए हमारे सामने बिहार व गुजरात उदाहरण है। जैसे ही राजस्व का अन्य कोई रास्ता निकल आए, तो शिवराज सिंह को इस बारे में सोचना चाहिए। हम नशाबंदी को लेकर आंदोलन नहीं बल्कि अभियान चलाएंगे और इसके पीछे कारण यह है कि लोगों को जाग्रत किया जाए। पूर्व मुख्यमंत्री सोमवार को अल्प समय के लिए ग्वालियर आई और स्टेशन पर मीडिया के सवालो का जवाब दिया। इस दौरान महंगाई के संबंध में पूछे गए सवाल को वह टाल गई।

उमा भारती का कहना है कि मैंने कभी नहीं कहा कि नशाबंदी के लिए आंदोलन करूंगी। हम इसको अभियान के रूप में चलाएंगे और इसके लिए 8 मार्च को बैठक बुलाई है इसके में रुपरेखा तैयार होगी उसके बाद हम लोग जनता के बीच निकलेगें और उनसे नशाबंदी का आग्रह करेंगे। अब राजस्व का रास्ता अगर कोई अन्य तरीके से निकल आएं तो शिवराज को नशाबंदी को लेकर सोचना चाहिए और इसके लिए मैने शिवराज सिंह से भी कहा है। नशा एवं शराब दोनों ही पूरी तरह से बंद होना चाहिए, पहले तो अवैध शराब नहीं बिकना चाहिए, क्योंकि अवैध शराब बिकने के कारण ही उसके सेवन से मौते होती है। जो वैध दुकाने हो उन्ही से फिलहाल शराब बिके। एक सवाल के जवाब में उमा भारती का कहना है कि मैं नहीं जानती कौन आबकारी आयुक्त है और कितनी दुकानें हैं, क्योंकि मुझे शराब व नशे से सख्त नफरत है और मेरा वश चले तो एक झटके में शराब एवं नशाबंदी कर देती। अब मैंने अपने विचार मुख्यमंत्री के सामने रख दिए हैं। एक सवाल के जवाब में उमा का कहना था कि मैं नशाबंदी को लेकर में अभियान जरूर चलाऊंगी, क्योंकि इसमें मेरी आस्था है। शराब से हमारी महिलाएं खासी परेशान है, क्योंकि घर उन्ही को चलाना होता है। राजस्व तो एक नंबर की शराब से मिल रहा है, लेकिन दो नंबर से जो शराब बिक रही है उससे राजस्व तो कुछ मिल नहीं रहा तो ऐसे लोगों के खिलाफ जो दो नंबर की शराब बेंच रहे है उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही होना चाहिए।

महंगाई के मुद्दे पर साध ली चुप्पी :

देश में जिस तेजी से पेट्रोल व गैस सिलेण्डर के दाम बढ़ रहे हैं और इससे महंगाई और भड़क रही है? इस सवाल पर उमा भारती का कहना था कि मैं इस मामले में कुछ नहीं कह सकती, क्योंकि इस मामले को लेकर देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने अपनी बात रखी है और मैं उनकी बात से सहमत हूं। इस तरह उमा महंगाई के मुद्दे को लेकर पूछे गए सवाल पर सीधा जवाब देने की बजाए देश की वित्त मंत्री की बात कहकर सवाल को टाल गई।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co