गुरूवार को क्षेत्र के गांव में घुसा टिड्डी दल
गुरूवार को क्षेत्र के गांव में घुसा टिड्डी दल|social media
मध्य प्रदेश

गुरूवार को क्षेत्र के गांव में घुसा टिड्डी दल

प्रशासन की सतर्कता से टिड्डी दल को बैठने नहीं दिया, आज भी सतर्क रहने की आवश्यकता, एक टिड्डी दल और पीछे आ रहा है, उससे भी निपटने की पूरी तैयारी।

Gopal Mavar

Gopal Mavar

राजएक्सप्रेस। कोरोना महामारी से तो लड़ ही रहे हैं और एक आपदा टिड्डी दल की राजस्थान के मार्ग से क्षेत्र में प्रवेश करने की सूचना से अधिकारियों में हड़कंप मच गया। अधिकारियों व ग्रामीणों की सूझबूझ व मेहनत से टिड्डी दल को क्षेत्र के आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में बैठने नहीं दिया। बैठ जाता तो ग्रामीण क्षेत्र की फसलें व हरियाली सहित पेड़-पौधो में भारी नुकसान कर जाती। एसडीएम का अनुभव काम आया। उन्होंने बुधवार से ही इसके लिए तैयारी कर ली थी। सूचना मिलते ही उन्हें भगाने के साधन तुरंत ग्रामीण क्षेत्रो में पहुंचाकर उन्हें रवाना कर दिया। खतरा अभी टला नहीं है। एक दल और राजस्थान से प्रवेश करने की सूचना आई है। इसको लेकर भी अधिकारी अलर्ट हो गए हैं।

कोरोना महामारी से विश्व सहित पूरा देश व क्षेत्र लड़ ही रहा है। गनीमत है कि यह महामारी अधिकारियों व सरकार की सतर्कता से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रो में पैर नही पसार पा रही है। ऐसे में फिर किसानों के दुश्मन कहे जाने वाले टिड्डी दल ने पाकिस्तान से राजस्थान में प्रवेश किया वहां कुछ क्षेत्रो में भारी नुकसान करते हुए गुरूवार को आलोट, महिदपुर की और से टिड्डी दल का प्रवेश, क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रो में होने की सूचना जिला मुख्यालय से एसडीएम आरपी वर्मा को मिली।

टिड्डी दल से निपटने के लिए उनका पूर्व अनुभव है। उन्होंने बुधवार को ही इससे निपटने के लिए पूरी तैयारी कर रखी थी। सेनेटाईजर के भरे हुए फायर बिग्रेड, ट्रेक्टरों पर टंकियां रखकर उसमें कीटनाशक दवाईयां भरकर तैयार कर रखी थी। ढोल-ताशे, डीजे की भी पूरी व्यवस्था थी। बुधवार को ही ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को इसकी सूचना कर तैयार रहने को कहा था। गुरूवार को जैसे ही महिदपुर रोड़ से आक्याकोली, हिड़ी, अंतरालिया, पुनाखेड़ा, दीपखोड़ा, पानखेड़ी, गुराछी में भारी संख्या में टिड्डी दल ने प्रवेश किया। नागदा क्षेत्र से एसडीएम व नायब तहसीलदार सहित पूरा प्रशासन का दल उस और पहुंचा।

उन्हेल क्षेत्र से भी तहसीलदार मनोहर वर्मा के नेतृत्व में एक दल उधर से घुसा। टिड्डी दल ने बैठने का प्रयास किया पर प्रशासन व ग्रामीण क्षेत्र के लोगों ने साधनो का उपयोग करते हुए ढोल-ताशे, डीजे व थालियां बजाने के साथ कीटनाशक दवाईयां व सेनेटाईजर का छिटकाव कर फाग मशीन से छिटकाव कर बैठने नहीं दिया। आखिकरकार भारी संख्या में घुसा टिड्डी दल महिदपुर क्षेत्र की सीमा में चला गया। यदि प्रशासन सतर्क नहीं होता तो क्षेत्र में टिड्डी दल भारी नुकसान कर सकता था। एसडीएम वर्मा ने बताया कि अभी भी खतरा टला नहीं है। सूचना है कि मंदसौर, नीमच की और से एक दल और आलोट क्षेत्र में प्रवेश कर गया है। शुक्रवार को भी दल इसी प्रकार क्षेत्र में आ सकता है। इससे भी निपटने के लिए पूरा तैयार रहने की आवश्यकता है।

इनका कहना :

टिड्डी दल के मंदसौर क्षेत्र में घुसने के बाद से ही हम पूरी तरह सतर्क हो गए थे। टिड्डी दल को भगाने के लिए सारी व्यवस्था कर ली थी। ग्रामीण क्षेत्रवासियों को भी सूचना कर दी थी। जैसे ही महिदपुर रोड से घुसने की सूचना मिली तो पूरा दल दो तरफ से क्षेत्र में गया और उन्होंने कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में बैठने का प्रयास किया लेकिन साधनों का उपयोग कर उन्हें बैठने नहीं दिया गया। खतरा अभी टला नहीं है एक और दल प्रवेश करने वाला है। इसके लिए सतर्क रहने की आवश्यकता है।

आर.पी. वर्मा, एसडीएम, नागदा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co