उपार्जन केंद्र के बाहर ट्रेक्टर ट्रालियों के लंबी कतार लगी
उपार्जन केंद्र Gopal Mawar

उपार्जन केंद्र के बाहर ट्रेक्टर ट्रालियों के लंबी कतार लगी

उपार्जन केंद्र पर बारदान नहीं होने से तीन दिन से खरीदी बंद, एसडीएम ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ औचक निरीक्षण किया।

राज एक्सप्रेस। समर्थन मूल्य की खरीदी के दौरान उपार्जन केंद्रों पर बारदान समाप्त होने के कारण लगभग दिन तीनों से खरीदी बंद हो गई, जिसके कारण उपार्जन केंद्र के बाद ट्रेक्टर ट्रालियों की लंबी कतार लग गई। सोमवार को एसडीएम ने प्रशासनिक अधिकारियों के उपार्जन केंद्र, वेयर हाउस एवं तौला कांटा पहुंचकर व्यवस्थाओं को परखा। जिसके कारण कर्मचारियों और अधिकारियों में हड़कंप मच गया।

समर्थन मूल्य की अंतिम तिथि 26 से बढ़ाकर 10 जून कर दिया गया, लेकिन बारदाने के अभाव में उपार्जन केंद्र पर लगभग तीन दिन से खरीदी बंद है, जिसके कारण किसानों को उपार्जन केंद्र के बाद लंबी कतार में लगकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है। सेवा सहकारी संस्था बैरछा एवं रुपेटा में बारदाना नहीं होने के कारण तीन दिनों से खरीदी बंद है, कतार में लगे किसानों का मंगलवार को आक्रोश व्याप्त हो गया, किसानों से स्थानीय से लेकर जिला मुख्यालय के अधिकारियों के फोन घनघना दिए। इधर एसडीएम आरपी वर्मा ने मामले को गंभीरता से लेकर व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के लिए मंगलवार की दोपहर 1:30 पिपल्यामोलू कैप के लिए रवाना हुए। जहां वेयर हाउस के शाखा प्रबंधक विनोद शर्मा, कैप के हम्मालों को एसडीएम वर्मा ने जमकर लताड़ लगाई।

एसडीएम ने दो टू शब्दों में कहा यहां किसी तरह की मोनोपाली नहीं चलेगी। वेयरहाउस के जिले में बैठे अधिकारियों ने मामले कां संभाला और कर्मचारियों को एसडीएम के मार्गदर्शन में काम करने के लिए निर्देशित किया। इसके बाद एसडीएम वर्मा ने स्टेट हाईवे नंबर 15 पर स्थित चारभुजा तौलकांटा पर पहुंचकर औचक निरीक्षण किया। इस दौरान एसडीएम वर्मा ने तौलकांटा करने वाले कर्मचारी को सख्त हिदायत दी कि कोई भी वाहन तौल कांटे के कारण लेट नहीं होना चाहिए। इस दौरान सीएसपी मनोज रत्नाकर, तहसीलदार विनोद शर्मा, नायब तहसीलदार अन्नु जैन, वेयर हाउस शाखा प्रबंधक विनोद शर्मा आदि मौजूद रहे।

उपज परिवाहन के लिए वैकल्पिक

प्रबंध मार्केटिंग सोसायटी नागदा, रुपेटा सहित अन्य उपार्जन केंद्रों से उपज का परिवाहन नहीं होने से समर्थन मूल्य की खरीदी पर विराम लग गया था। जिसके कारण किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। एसडीएम वर्मा ने उपज का परिवाहन करने के लिए वैकल्पिक प्रबंध किए। जिससे कृषि उपज मंडी परिसर नागदा और रुपेटा उपार्जन केंद्र लगभग खाली हो गया। पिपल्यामोलू कैप में मंगलवार से 10 पाईंप पर उपज को खाली करना शुरु कर दिया गया, जिससे स्थानीय प्रशासन ने राहत की सांस ली।

रुपेटा और बैरछा में तीन दिन से खरीदी बंद

दसेवा सहकारी संस्था बैरछा और रुपेटा में बारदाना नहीं होने के कारण तीन दिनों से समर्थन मूल्य की खरीदी नहीं हो पा रही है जिसके कारण उपार्जन केंद्र के बाहर ट्रेक्टर ट्रालियों की लंबी कतार लग गई। एसडीएम ने मंगलवार को रुपेटा उपार्जन केंद्र पर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। एसडीएम ने किसानों को समझाईश दी कि अतिशीघ्र स्थिति सामान्य हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इस वर्ष गेहूं की बम्पर आवक हुई है जिसके कारण अधिकारियों का अनुमान फेल हो गया है। अतिशीघ्र बारदान की व्यवस्था होगी, जिससे समर्थन मूल्य की खरीदी रफ्तार पकड़ेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co