मध्यप्रदेश स्थापना दिवस
मध्यप्रदेश स्थापना दिवसSocial Media

मध्यप्रदेश स्थापना दिवस : 67 साल का हुआ मध्यप्रदेश, जानिए इससे जुड़ी 10 रोचक बातें

मध्यप्रदेश में नर्मदा, शिवना, चंबल, कोलार, पार्वती, तापी, क्षिप्रा, टोंस, बंजार, बेतना सहित कुल 21 नदियाँ बहती हैं। चलिए बताते हैं आपको मध्यप्रदेश के बारे में विस्तार से।

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की स्थापना को आज 67 साल हो चुके हैं।साल 1956 में राज्यों के पुर्नगठन के तहत ही 1 नवंबर 1956 को मध्यप्रदेश की स्थापना की गई थी। उस समय मध्य प्रांत और बरार, मध्य भारत, विंध्यप्रदेश और भोपाल राज्य को मिलाकर मध्यप्रदेश बनाया गया था। स्थापना के समय मध्यप्रदेश देश का सबसे बड़ा राज्य हुआ करता था, लेकिन नवंबर 2000 में छत्तीसगढ़ के अलग राज्य बनने के बाद इसका भू-भाग कम हो गया। तो चलिए आज हम जानेंगे कि मध्यप्रदेश कैसे अस्तित्व में आया और इसकी क्या खासियत है?

मध्यप्रदेश का गठन :

दरअसल देश की आजादी के बाद सरकार ने भाषायी आधार पर राज्यों का पुनर्गठन करने के लिए राज्य पुनर्गठन आयोग की स्थापना की थी। इसके तहत ही साल 1956 में मध्य प्रांत और बरार, मध्य भारत, विंध्यप्रदेश और भोपाल जैसे राज्यों को मिलाकर मध्यप्रदेश बनाया गया। डॉ. पटटाभि सीतारामैया मध्यप्रदेश के पहले राज्यपाल जबकि पंडित रविशंकर शुक्ल प्रदेश पहले मुख्यमंत्री बने।

भोपाल क्यों बनी राजधानी?

मध्यप्रदेश के गठन के समय राजधानी बनाने के लिए जबलपुर, इंदौर और ग्वालियर का नाम सबसे आगे था, लेकिन सरकार ने भोपाल को राजधानी के रूप में चुना। इसका कारण यह था कि देश की आजादी के बाद भोपाल के नवाब भारत में शामिल नहीं होना चाहते थे। ऐसे में सरकार नहीं चाहती थी कि भोपाल में राष्ट्र विरोधी गतिविधियां बढ़े। ऐसे में भोपाल पर नजर रखने के लिए ही इसे राजधानी बनाया गया। इसके अलावा भोपाल को उसकी भौगोलिक स्थिति के चलते भी राजधानी बनाया गया।

मध्यप्रदेश के बारे में रोचक बातें :

  1. मध्यप्रदेश पांच लोक संस्कृतियों निमाड़, मालवा, बुन्देलखण्ड, बघेलखण्ड और ग्वालियर का समावेशी राज्य है।

  2. मध्यप्रदेश भारत का एकमात्र ऐसा राज्य हैं, जहां हीरे की खदान है।

  3. मध्यप्रदेश का राजकीय पक्षी दूधराज, राजकीय पशु बारहसिंघा और राजकीय वृक्ष बरगद है।

  4. मध्यप्रदेश में नर्मदा, शिवना, चंबल, कोलार, पार्वती, तापी, क्षिप्रा, टोंस, बंजार, बेतना सहित कुल 21 नदियाँ बहती हैं।

  5. मध्यप्रदेश की आधिकारिक भाषा हिंदी हैं लेकिन यहां मालवी, तेलुगू, मराठी, गोंडी, कोरकु, निहाली सहित कई भाषाएं बोली जाती है।

  6. मध्यप्रदेश देश का एकमात्र ऐसा राज्य हैं जहां बाघ, तेंदुएं और चीते पाए जाते हैं।

  7. मध्यप्रदेश में भीमबेटका की 600 गुफाओं का संग्रह है और इसे भारत के सबसे पुराने गुफा संग्रहों में से एक माना जाता है।

  8. मध्यप्रदेश चंद्रशेखर आज़ाद, अटल बिहारी वाजपेयी, लता मंगेशकर, किशोर कुमार, तानसेन, बैजू बावरा, कैलाश सत्यार्थी, मंसूर अली खान पटौदी सहित कई महान लोगों की जन्मस्थली भी रहा है।

  9. देश में सबसे अधिक राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य मध्यप्रदेश में हैं।

  10. भगवान शिव के 12 ज्योर्तिलिंग में से 2 ज्योतिर्लिंग मध्यप्रदेश के उज्जैन और ओंकारेश्वर में हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co