मध्यप्रदेश 'लैंड डिजिटलाइजेशन' के मामले में देश में सबसे आगे

प्रधानमंत्री ने प्रदेश में स्वामित्व योजना की शुरुआत करते हुए कहा गजब है मध्यप्रदेश, हमारी हर योजना को सबसे पहले उतारता है जमीन पर। योजना के 1.71 लाख हितग्राहियों को सिंगल क्लिक के जरिए सौंपे दस्तावेज
मध्यप्रदेश 'लैंड डिजिटलाइजेशन' के मामले में देश में सबसे आगे
मध्यप्रदेश 'लैंड डिजिटलाइजेशन' के मामले में देश में सबसे आगेSocial Media

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मध्यप्रदेश गजब है। यह देश का गौरव भी है। इसमें विकास की ललक है। हम कोई योजना बनाते हैं तो देखते हैं कि उसे मध्यप्रदेश में सबसे पहले जमीन पर उतारने के लिए दिन-रात एक कर दिया जाता है। यह बहुत अच्छा लगता है और ये 'मेरे' लिए संतोष की बात है। श्री मोदी ने ग्रामीण क्षेत्रों में संपत्ति के स्वामित्व से संबंधित महत्वाकांक्षी 'स्वामित्व योजना' के तहत मध्यप्रदेश के लाभार्थियों को ई प्रापर्टी दस्तावेज सौंपने के कार्य की शुरुआत के अवसर पर यह बात कही। इस मौके पर एक लाख 71 हजार हितग्राहियों को सिंगल क्लिक के जरिए दस्तावेज सौंपे गए। श्री मोदी दिल्ली से वीसी के माध्यम से जुड़े और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ह चौहान हरदा में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित रहे।

श्री मोदी ने मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में यह प्रदेश 'लैंड डिजिटलाइजेशन' के मामले में देश में अग्रणी राज्य बनकर उभरा है। इस क्षेत्र में प्रशंसनीय कार्य किया जा रहा है। गांवों की जमीन को इस तरह कानूनी दस्तावेज देना आधुनिक तकनीक के जरिए विकास का नया मंत्र देने की तरह है। श्री मोदी ने बताया कि मध्यप्रदेश के अलावा उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, हरियाणा, कर्नाटक और राजस्थान के कुछ गांवों में स्वामित्व योजना को प्रायोगिक तौर पर लागू किया गया था। अब तक लगभग 22 लाख परिवारों के प्रापर्टी कार्ड तैयार हो चुके हैं। अन्य राज्यों में इसका विस्तार किया जा रहा है।

गांवों में मुहैया कराए जा रहे हैं संपत्ति के वैध दस्तावेज :

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के जरिए गांवों में संपत्ति के वैध दस्तावेज मुहैया कराए जा रहे हैं। इससे लोगों को विवादों और कोर्ट कचहरी से मुक्ति मिलेगी और उन्हें अपनी संपत्ति का बेहतर उपयोग करने जैसे बैंक लोन और अन्य कार्यों में करने में मदद मिलेगी। श्री मोदी ने बताया कि इस तरह की योजना पर उन्होंने गुजरात में उस समय कार्य प्रारंभ किया था, जब वे वहां के मुख्यमंत्री थे।

प्रदेशवासियों के लिए आज का दिन ऐतिहासिक : मुख्यमंत्री

इसके पहले श्री चौहान ने अपने संबोधन के दौरान प्रदेश के नागरिकों की ओर से श्री मोदी का अभिनंदन किया और कहा कि यह हम सभी प्रदेशवासियों के लिए ऐतिहासिक दिन है, जब दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता हम सबके बीच 'वर्चुअली' जुड़े हैं। श्री चौहान ने कहा कि आज का दिन इसलिए भी ऐतिहासिक है कि श्री मोदी को संवैधानिक पद संभाले हुए 20 वर्ष हो गए हैं। श्री मोदी 13 वर्षों तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे और उन्होंने वहां की तस्वीर बदल दी। इसके बाद वे प्रधानमंत्री बने और संवैधानिक पदों पर बेहतर ढंग से दायित्व संभालते हुए 20 वर्ष पूर्ण कर लिए। उन्होंने कहा कि श्री मोदी के आने के पहले केंद्र सरकारों के परिप्रेक्ष्य में भ्रष्टाचार और घोटालों की चर्चाएं होती थीं, लेकिन अब श्री मोदी का नाम सब गर्व के साथ लेते हैं। उनके नेतृत्व में दुनिया का कोई भी देश अब भारत की अनदेखी नहीं कर सकता है। उन्होंने श्री मोदी को प्रदेश के नागरिकों की ओर से और बेहतर भविष्य के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.