जुलाई में झमाझम बरसा पानी
जुलाई में झमाझम बरसा पानीSocial Media

Madhya Pradesh : जुलाई में झमाझम बरसा पानी, अगस्त के शुरुआती दिन रहेंगे सूखे

भोपाल, मध्यप्रदेश : इस साल जुलाई के महीने में राजधानी सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में सामान्य से कई गुना ज्यादा बारिश हुई है। फिलहाल तीन-चार दिन शहर में वर्षा की संभावना नहीं है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। इस साल जुलाई के महीने में राजधानी सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में सामान्य से कई गुना ज्यादा बारिश हुई है। जुलाई के अंतिम दिन रविवार को सुबह साढ़े आठ बजे तक शहर में कुल 923.8 मिमी बारिश हो चुकी है, जो कि सामान्य से 404.2 मिमी अधिक है। वहीं मौसम विभाग ने अगस्त में भी अच्छी वर्षा की संभावना जताई है। इसलिए अब सीजन की वर्षा का कोटा जल्द ही पूरा होने कर अनुमान है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक मानसून ट्रफ के प्रदेश से होकर गुजरने के कारण अच्छी बारिश हुई है, इसके उत्तर की ओर शिफ्ट होने की वजह से फिलहाल वर्षा नहीं हो रही है। इसके एक बार फिर से दक्षिण में शिफ्ट होने पर फिर से बौछारें पड़ने का दौर शुरू हो जाएगा। फिलहाल तीन-चार दिन शहर में वर्षा की संभावना नहीं है।

नमी मौजूद, हीटिंग होने से बढ़ी उमस :

राजधानी सहित प्रदेश में वर्षा की गतिविधियां थमने से मौसम के मिजाज में भी बदलाव आने लगा है। सुबह से ही धूप तेवर दिखाने लगी है, साथ ही वातावरण में मौजूद नमी के कारण उमस बढ़ गई है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि बीते दिनों प्रदेश से होकर गुजरने वाली मानसून ट्रफ हिमालय की तराई में पहुंच गई है। इसके अलावा भी प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाला कोई सिस्टम सक्रिय नहीं है, इसलिए वर्षा की गतिविधियां थम सी गई हैं। दो-तीन दिन में उत्तर प्रदेश में सिस्टम बनने के आसार हैं। वहीं मानसून ट्रफ भी उत्तर की ओर शिफ्ट हो सकती है। ऐसा होने से एक बार फिर से वर्षा की गतिविधियां शुरू हो सकती हैं।

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी डॉ. ममता यादव ने बताया कि जुलाई की शुरूआत से ही मानसून ट्रफ के प्रदेश से होकर गुजरने की वजह से प्रदेश में अच्छी बारिश हुई है। लेकिन कुछ दिनों से स्थिति बदल गई है, यह स्वभाविक प्रक्रिया है। वर्तमान में मध्य प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाली कोई मौसम प्रणाली सक्रिय नहीं है। मानसून ट्रफ हिमालय की तराई में चला गया है। मानसून ट्रफ फिरोजपुर, रोहतक, मेरठ, गोरखपुर, मुजफ्फरपुर, अगरतला से होते हुए बांग्लादेश तक बना हुआ है। इस वजह से वर्षा का दौर फिलहाल काफी कम हो गया है। हालांकि बीते दिनों हुई लगातार बारिश के कारण वातारण में अभी भी नमी मौजूद है। हीटिंग होने पर लोकल सिस्टम बनता है तो छुटपुट वर्षा हो सकती है।

पारा सामान्य से अधिक :

आसमान साफ होने से दिन का पारा भी बढ़ गया है। रविवार को दिन का तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 32.6 डिग्री रहा। रात के पारे में 0.8 डिग्री की गिरावट हुई। यह सामान्य से आधा डिग्री अधिक 23.6 डिग्री रिकार्ड किया गया। सुबह साढ़े आठ बजे तक बीते 24 घंटे में शहर में 1.8 मिमी वर्षा दर्ज की गई। सुबह के समय आद्रता 87 और शाम को 65 फीसदी दर्ज की गई।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co