मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने आउटसोर्स कंपनियों को किया बर्खास्त
मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने आउटसोर्स कंपनियों को किया बर्खास्तसांकेतिक चित्र

मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने आउटसोर्स कंपनियों को किया बर्खास्त

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कंपनी में अपनी सेवाएं दे रहीं आउटसोर्स कंपनियों को बर्खास्त कर दिया है।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कंपनी में अपनी सेवाएं दे रहीं आउटसोर्स कंपनियों को बर्खास्त कर दिया है। इन कंपनियों का कार्यकाल 31 मार्च 2020 को ही समाप्त हो रहा था, लेकिन कोरोना काल के कारण इनका कार्यकाल 31 मार्च 2021 तक के लिए तीन-तीन माह के एक्सटेंशन के अंतराल से बढ़ाया गया था। मध्य क्षेत्र कंपनी ने कुछ गड़बड़ियां पाए जाने पर इनको बर्खास्त कर दिया है। इन कंपनियों का बर्खास्तगी पीरियड 31 मार्च 2021 के बाद प्रभावी होगा। इसी के साथ एक आउटसोर्स कंपनी प्राइमवन वर्कशॉप प्राइवेट लिमिटेड को एक साल के लिए कंपनी में काम करने से रोका गया है।

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी में आउटसोर्स पर कर्मचारियों की नियुक्ति लंबे समय से की जाती रही है। इसी क्रम में पांच आउटसोर्स कंपनियों को वर्ष 2019-20 के लिए कर्मचारियों को ठेका दिया गया था। इसी बीच कोरोना काल आ गया जिसकी वजह से मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी नई आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए नए टेंडर नहीं निकाल सकी तथा इन्हीं पांचों आउटसोर्स कंपनियों को तीन-तीन माह के अंतराल से 31 मार्च 2021 तक कार्यअवधि बढ़ा दी गई। इसी बीच बिजली कंपनी प्रबंधन को इन कंपनियों की कार्यप्रणाली में खामियां मिलीं तथा जब गड़बड़ियां व्यापक स्तर पर उजागर हुईं तब कंपनी प्रबंधन सकते में आ गया और उसने इन कंपनियों की सेवाओं को बर्खास्त कर दिया है। इन कंपनियों का बर्खास्तगी पीरियड 31 मार्च 2021 के बाद प्रभावी होगी।

इन कंपनियों के टेंडर किए निरस्त :

  1. वर्ल्ड क्लॉस सर्विसेज, प्राइवेट लिमिटेड, 380, गोयल नगर, बैंक ऑफ बड़ौदा के पास, सर्विस रोड, बंगाली चौराहा इंदौर।

  2. थर्ड आई सिक्योरिटी सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, एलजी-21, बीसीएस हाइट्स्, बोम्बे हॉस्पिटल के पास, इंदौर।

  3. बालाजी सिक्योरिटी सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, 412, नवनीत प्लाजा, 5/2 ओल्ड पलालिया, इंदौर।

  4. सेम वेन्चर्स प्राइवेट लिमिटेड, ई-202, फेज-8 बी, इंडस्ट्रियल एरिया, महाली।

प्राइम वन कंपनी को एक वर्ष के लिए किया निलंबित :

मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने उपरोक्त कंपनियों को बर्खास्त करने के साथ-साथ आउटसोर्स कंपनी प्राइम वन वर्कफोर्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को एक वर्ष के लिए निलंबित कर दिया है। अर्थात यह कंपनी एक वर्ष तक मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी में अपने सेवाएं नहीं दे सकती है।

ऊर्जा मंत्री के पकड़ में आया था मामला :

आउटसोर्स कंपनियों का मामला तब पकड़ में आया था जब ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर विजिट के दौरान शाहजहांपुर गए थे तथा वहां उन्हें आउटसोर्स कंपनी के कर्मचारियों ने बताया कि उनका पीएफ जमा नहीं किया जाता है तथा वेतन भी पूरा नहीं दिया जाता है। इस पर मंत्री ने इस मामले की जांच के आदेश दिए थे तथा बाद में शाहजहांपुर सहायक यंत्री (चालू प्रभार) यासीम खान को निलंबित कर दिया गया था।

इनका कहना है :

बिजली कंपनी की यह एक अच्छी पहल है। मैं इसके लिए ऊर्जा मंत्री को धन्यवाद देता हूं। इस कार्यवाही में इस बात ध्यान रखा जाए कि जो कर्मचारी लगे हैं उनका नुकसान न होने पाए। मेरा मानना है कि अन्य कंपनियों में भी इसकी जांच की जाए तथा जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई इन कंपनियों से की जाए।

एलके दुबे, क्षेत्रीय सचिव, विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन, ग्वालियर

विद्युत कंपनी को ठेके पर लगे इन कर्मचारियों को सीधे मस्टर पर लेना चाहिए जिससे इनकी निष्ठा बिजली कंपनी के साथ हो सके। आज कोई भी बिजली अधिकारी इन कर्मचारियों को सीधे पत्र लिखने के लिए अधिकृत नहीं है,जिससे काम भी प्रभावित होता है।

केके आर्या, प्रांतीय सचिव, पत्रोपादि अभियंता संघ, ग्वालियर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co