मध्यप्रदेश को भण्डारण हब बनाया जाएगा : मुख्यमंत्री कमल नाथ
मध्यप्रदेश को भण्डारण हब बनाया जाएगा : मुख्यमंत्री कमल नाथ|Social Media
मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश को भण्डारण हब बनाया जाएगा : मुख्यमंत्री कमल नाथ

देश के हृदय प्रदेश मध्य प्रदेश को अब भण्डारण हब बनाने की तैयारी में हैं मध्य प्रदेश सरकार जानिए इस विषय में क्या बोले मुख्यमंत्री कमल नाथ।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि मध्यप्रदेश को भण्डारण हब बनाया जाएगा। मध्यप्रदेश देश के केन्द्र में स्थित है, इसलिए निकट भविष्य में लाजिस्टिक हब के रूप में विकसित होगा। इससे प्रदेश के भण्डारण हब बनने में भी सहयोग मिलेगा। उन्होंने लाजिस्टिक और भण्डारण क्षेत्र में सक्रिय निवेशकों को प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ से वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम दावोस की वार्षिक बैठक के दूसरे दिन विश्व के नामी उद्योगपतियों ने मध्यप्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी, स्वागत क्षेत्र, पर्यटन के नए क्षेत्रों में निवेश पर चर्चा की गयी। निवेशकों ने श्री कमल नाथ के नेतृत्व और दूरदृष्टि में विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश जल्दी ही इकॉनोमिक फोर्स के रूप में नजर आएगा।

मुख्यमंत्री ने हेवलेट पैकार्ड इंटरप्राइज डिवीजन के अध्यक्ष और सीईओ एंटोनियो नेरी से डाटा सेंटर स्थापित करके, हार्डवेयर निर्माण और आईटी पार्क स्थापित करने से जुड़े विषयों पर चर्चा की। मध्यप्रदेश में कम्प्यूटर हार्डवेयर निर्माण और आईटी पार्क में होने वाले आईटी ऑपरेशन के संबंध में बातचीत की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आईटी क्षेत्र में निवेश के लिए सर्वाधिक अनुकूल वातावरण है क्योंकि शांति होने के साथ-साथ यहाँ प्रतिभाशाली युवा आईटी प्रोफेशनल बड़ी संख्या में उपलब्ध हैं।

विप्रो लिमिटेड के सीईओ अबीदाली नीमचवाला ने मुख्यमंत्री कमल नाथ से मध्यप्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी सेवा इकाइयों और पार्क स्थापित करने की नई संभावनाओं पर चर्चा की। उन्होंने कमल नाथ के नेतृत्व में विश्वास जताते हुए कहा कि प्रदेश में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश की संभावनाएँ बनी हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co