प्रदेश में अब 5 सितंबर को नहीं होगा शिक्षकों का सम्मान
प्रदेश में अब 5 सितंबर को नहीं होगा शिक्षकों का सम्मान|Syed Dabeer-RE
मध्य प्रदेश

प्रदेश में अब 5 सितंबर को नहीं होगा शिक्षकों का सम्मान, नई तिथि घोषित होगी

भोपाल। भारत के पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली डॉक्टर राधाकृष्णन के जन्मदिवस 5 सितंबर को इस बार शिक्षकों का सम्मान नहीं होगा।

Shahid Kamil

भोपाल। भारत के पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली डॉक्टर राधाकृष्णन के जन्मदिवस 5 सितंबर को इस बार शिक्षकों का सम्मान नहीं होगा। देश में राष्ट्रीय शोक एवं प्रदेश में कोरोना जैसी चुनौतियों को लेकर विभाग ने यह निर्णय लिया है।

पूरे देश के प्रत्येक राज्य के साथ मध्यप्रदेश में भी राधाकृष्णन का जन्म दिवस शिक्षक दिवस के रूप में 5 सितंबर को मनाया जाता है। विभाग के अनुसार भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन के बाद देश में राजकीय शोक है। इस कारण शिक्षा विभाग में अधिकारियों का कहना है कि 5 सितंबर को प्रदेश में इस बार शिक्षक दिवस समारोह आयोजित नहीं किया जाएगा। लोक शिक्षण संचालनालय के संयुक्त संचालक धर्मेंद्र शर्मा ने बताया कि अब शिक्षक सम्मान समारोह की अलग से तिथि घोषित की जाएगी। जैसे ही तिथि घोषित होगी, उसी के अनुसार चयनित शिक्षकों को पुरस्कार दिया जाएगा। श्री शर्मा ने बताया कि शिक्षक सम्मान समारोह वैसे भी 1 सप्ताह तक चलता है। इधर बताना होगा कि पिछले वर्ष 2019 में भी शिक्षक दिवस सम्मान समारोह का राज्य स्तरीय कार्यक्रम निर्धारित तिथि पर नहीं हुआ था। कारण भी है कि उस समय के शिक्षा मंत्री प्रभु राम चौधरी कोरिया के दौरे पर थे। समारोह में विभागीय मंत्री की अतिथि के रूप में मौजूदगी ना होने पर यह सम्मान समारोह 5 सितंबर के बाद किया गया था।

भारत सरकार द्वारा राज्यों को भी दिए गए निर्देश

इधर मंत्रालय स्थित स्कूल शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों का कहना है कि शिक्षक पुरस्कार को लेकर भारत सरकार द्वारा जो राज्यों को निर्देश दिए गए हैं। उसमें यही उल्लेख किया गया है कि राजकीय शोक के दौरान कोई मनोरंजन संबंधी कार्यक्रम नहीं होंगे। अधिकारियों का कहना है कि प्रदेश में शिक्षकों को जो सम्मान दिया जा रहा है। उसमें इस बार वैसे भी कोई समारोह नहीं हो रहा है। कोरोना के चलते शासन इसके पहले भी निर्देश दे चुका है। कलेक्टर कार्यालय में सम्मानित होने वाले शिक्षक को सिर्फ साल श्रीफल से सम्मानित किया जाना है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co