Raj Express
www.rajexpress.co
कलेक्ट्रेट गेट पर चाबियां रखकर मैजिक चालकों ने सिटी बसों का विरोध किया
कलेक्ट्रेट गेट पर चाबियां रखकर मैजिक चालकों ने सिटी बसों का विरोध किया |Ganesh Dunge
मध्य प्रदेश

बुरहानपुर: कलेक्ट्रेट गेट पर चाबियां रखकर मैजिक चालकों ने का किया विरोध

सिटी बसों का विरोध , कलेक्ट्रेट गेट पर चाबियां रखकर चालकों ने कहा सिटी बस चलेंगी तो मैजिक यहीं खड़ी कर देंगे , लालबाग से जयस्तंभ तक चलने वाले मैजिक चालकों ने सिटी बसों का विरोध किया

Ganesh Dunge

Ganesh Dunge

राज एक्सप्रेस। लालबाग से जीजामाता पॉलीटेक्नीक कॉलेज तक शुरू हुई सिटी बस का मंगलवार को लालबाग से शहर तक चलने वाले मैजिक चालकों ने विरोध कर दिया। दोपहर 2 बजे सैंकड़ो चालक अपना मैजिक लेकर कलेक्ट्रेट परिसर में पहुंचे और चाबिया गेट के सामने रखकर चेतावनी दी कि सिटी बस चलेंगी तो हम हमारे मैजिक यहीं पर खड़े कर देंगे। करीब एक घंटे तक मैजिक चालकों ने कलेक्ट्रेट में विरोध प्रदर्शन किया।

मैजिक बंद हो जाने के कारण यात्री हुए परेशान

उधर मैजिक बंद हो जाने के कारण यात्रियों को भी परेशानी हुई। सिटी बस निकलने के बाद यात्री ऑटो में बैठकर गए तो कुछ सिटी बस का इंतजार करते रहे। उल्लेखनीय है कि सोमवार से शहर में 'सूत्र सेवा सिटी' बस शुरू हुई है। ये लालबाग से सिंधी बस्ती सहित अन्य रूटों से होते हुए रेणुका माता मंदिर और जीजामाता पालीटेक्नीक कॉलेज तक जा रही हैं। लालबाग से मैजिक सिंधी बस्ती होते हुए शनवारा और जयस्तंभ से गुलमोहर मार्केट तक चलते हैं। मैजिक चालकों के विरोध के बाद शासन-प्रशासन को बीच का रास्ता निकालना होगा।

मैजिक चालकों ने कहा

सिटी बस के शुरू हो जाने के कारण हमारी रोजी-रोटी पर संकट आ गया है। सवारियां नहीं मिल रही है। सवारियां नहीं मिलेगी तो हम परिवार का पालन, पोषण कैसे करेंगे। सिटी बस का संचालन बंद किया जाना चाहिए। हमारी रोजी-रोटी के बारे में भी शासन, प्रशासन को सोचना चाहिए। महापौर ने दिलवाए मैजिक और अब बस शुरू करवा दी श्री सांईबाबा टैंपो एवं मैजिक यूनियन के संयोजक नईम खान ने बताया तीन साल पहले टैंपो बंद करवाकर महापौर ने लोन पर मैजिक वाहन दिलवाए थे। टैंपो शहर में 30 साल से चल रहे थे। इन्हें अनफिट घोषित कर बंद करवा दिया गया। महापौर ने मैजिक दिलवाए और अब उन्होंने ही सिटी बस शुरू करवा दी। इससे हमारा रोजगार प्रभावित होगा।

किस्त भरना होगा मुश्किल

जीतेंद्र पाटिल ने कहा कि मैजिक चालकों ने बताया पांच साल तक किस्त चुकानी है। हर माह 8 से 10 हजार रुपए किस्त चुकानी पड़ती है। 7 लाख रुपए में मैजिक वाहन खरीदा है। सिटी बस शुरू होने के बाद सवारियां कम मिलेंगी तो किस्त तक नहीं भर पाएंगे। सभी चालकों ने लोन लेकर मैजिक खरीदे हैं। इसके अलावा हर साल लगभग 27 हजार रुपए का बीमा करवाना पड़ता है। इसी कारण मैजिक चालक सिटी बस का विरोध कर रहे हैं।

शनवारा से संजय नगर, सिंधी बस्ती से कलेक्ट्रेट तक नहीं है सुविधा मैजिक वाहन लालबाग से शहर के अंदर गुलमोहर मार्केट तक चलते है। वापसी में ये शिवकुमारसिंह चौहारा, बस स्टैंड होते हुए शनवारा पहुंचते हैं। सिंधी बस्ती से कलेक्टोरेट तक ये मैजिक नहीं चलते हैं। अब परेशानी ये है कि मैजिक से शनवारा चौराहा पर यात्री उतरता हैं और उसे संजय नगर जाना है तो ऑटो करके जाना पड़ता है। कलेक्ट्रेट रोड पर आपे चलते हैं, लेकिन इनमें भी अधिकतर सवारियां लोनी, बहादरपुर की होती है। सिटी बस शुरू होने से कलेक्ट्रेट, शनवारा से शिकारपुरा थाना और रेणुका माता मंदिर क्षेत्र के यात्री कम किराए में सफर कर सकते हैं।