Raj Express
www.rajexpress.co
मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ उद्योगपति।
मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ उद्योगपति। |Social Media
मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश आ सकते हैं अंबानी समेत 124 उद्योगपति

कमलनाथ सरकार ने अंबानी,टाटा, बिड़ला सहित 124 उद्योगपति को न्योता भेजा है। मध्यप्रदेश सरकार सभी उद्योगपतियों को एक मंच पर लाकर प्रदेश में अधिक से अधिक निवेश का प्रयास करने जा रही है।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में होने जा रहे इस इन्वेस्टमेंट समिट की तैयारी की जिम्मेदारी खुद प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने हाथो में ली है।मुख्यमंत्री कमलनाथ आज मैग्निफिसेंट MP समिट की तैयारियों व आने वाले उद्योगपतियों के बारे में बैठक करेंगे। इसमें इन्वेस्टमेंट प्रमोशन पॉलिसी के साथ उद्योगों के लिए बनाई गई अलग-अलग नीतियों को अंतिम रूप दिया जाएगा। इन नीतियों को सबसे पहले निवेश संवर्धन के लिए बनी कैबिनेट सब कमेटी और 13 अक्टूबर को प्रस्तावित कैबिनेट की बैठक में रखा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कुछ उद्योगपतियों से व्यक्तिगत बात की है। जिन उद्योगपतियों ने मप्र में निवेश की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी है, उन्हें भी मैग्नीफिसेंट एमपी में बुलवाया गया है। अलग-अलग सत्रों के दौरान वे मप्र और उसकी नीतियों के बारे में दूसरे निवेशकों को बताएंगे। हाल ही में राज्य सरकार ने वंडर सीमेंट, राल्सन, प्रोक्टर एंड गैंबल समेत कुछ उद्योगों को प्रोत्साहन पैकेज दिया है।

आखिर किस क्षेत्र में है निवेश की संभावनाएं

मध्यप्रदेश में होने जा रहे है इस इन्वेस्ट समिट में अगर निवेश आता है तो प्रदेश के युवाओ को रोजगार के अधिक मौके मिलेंगे। मध्यप्रदेश में निवेश के लिए मुख्यता लॉजिस्टिक, एग्रो फूड प्रोसेसिंग, टूरिज्म, फार्मा, आईटी में भी आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, डेटा सेंटर, नेनो टेक्नोलॉजी पर ध्यान रहेगा। साथ ही स्टोरेज बैटरी, सभी तरह की रिन्यूवल एनर्जी, आम लोगों के खपत में काम आने वाली चीजें, साथ ही खनिज बेस इंडस्ट्री भी फोकस में हैं।

कैसी रहेगी कार्यक्रम की रूपरेखा

जनसम्पर्क विभाग की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार मैग्निफिसेंट एमपी समारोह के अंतर्गत 17 अक्टूबर को इंदौर में प्रदर्शनी का शुभारंभ होगा और मुख्य कार्यक्रम 18 अक्टूबर को होंगे। मुख्यमंत्री कमल नाथ 18 अक्टूबर को सुबह उद्घाटन सत्र में शामिल होंगे। इस दिन 8 विशेष सत्र होंगे। सत्र दो भागों में दोपहर 2.30 बजे 3.30 बजे तक तथा शाम 4 से 5 बजे तक आयोजित किये जायेंगे। इसके बाद समापन कार्यक्रम होगा। शाम को अतिथियों के लिये सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।