मंडला न्यूज़
मंडला न्यूज़|Deepika Pal-RE
मध्य प्रदेश

मंडला: खनिज विभाग सोया, पुलिस ने अवैध रेत परिवहन पर की कार्यवाही

मंडला, मध्यप्रदेश: क्षेत्र में रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन पर पुलिस ने कार्यवाही की, लेकिन खनिज विभाग गहरी नींद में सोया हुआ है।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

हाइलाइट्स :

  • थाना कोतवाली पुलिस ने रेत से भरा ट्रक किया जप्त

  • भड़िया और बरबसपुर में रेत चोरी के लिए लग रही सैंकड़ों वाहनों की कतार

मंडला, मध्यप्रदेश। रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन पर पुलिस ने कार्यवाही की, लेकिन खनिज विभाग गहरी नींद में सोया हुआ है। जबकि पुलिस विभाग के द्वारा की गई जाँच के दौरान बात सामने आई कि रेत से भरा ट्रक जिसमें खनिज परिवहन से संबंधित कोई भी दस्तावेज नहीं पाये गये, इसलिए उस पर कार्यवाही करते हुये पुलिस अभिरक्षा में खड़ा कराया गया। इस ट्रक पर रेत जो अवैध थी उसे परिवहन किया जा रहा था। अनुविभागीय अधिकारी एव्ही सिंह ने वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन पर घेराबंदी कर कार्यवाही की। ये ट्रक अंजनिया से नारायणगंज की और जा रहा था। पुलिस तो अपनी जिम्मेदारी निभा रही है, लेकिन संबंधित विभाग गहरी नींद में सोया हुआ है। रेत के सौदागरों ने इस कारोबार से गाढ़ी कमाई की है। जिनका जिला प्रशासन और खनिज विभाग कांधे से कांधा मिलाकर साथ दे रहा है। वरिष्ठ अधिकारियों से लेकर निम्रस्तर के अधिकारी माफियाओं की सरगुलामी कर रहे हैं। आये दिन अखबारों में शिकायतों के तौर पर रेत खनन से जुड़ी मामलों को उजागर किया जा रहा है, लेकिन प्रशासनिक नुमाईंदे कार्यवाही से बच रहे हैं।

क्षेत्र में बेहिसाब रेत की चोरी और परिवहन जारी

रविवार को रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन करने वाले ट्रक पर पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही का मामला सामने आया है। उक्त ट्रक जिसका क्रमांक एमपी 20 जीए 1650 जो अंजनिया से अवैध रेत लेकर नारायणगंज जा रहा था जिसकी घेराबंदी कर पकड़ा गया। ट्रक को जब पकड़ा तो पूछताछ करने पर पता चला कि उक्त ट्रक में अवैध रेत थी न तो रॉयल्टी थी और ना ही कोई दस्तावेज। पुलिस ने उक्त ट्रक पर कार्यवाही करते हुये पुलिस अभिरक्षा में खड़ा किया गया। पुलिस विभाग ने बताया कि रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन पर सख्त कार्यवाही के लिए पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला ने समस्त थाने और चौकियों में निर्देश दिये गये हैं, वहीं सूत्रों का कहना है कि कुछ थाने और चौकियां हैं जहां पुलिस अधीक्षक के निर्देशों का पालन नहीं हो रहा है। उस क्षेत्र में बेहिसाब रेत की चोरी और परिवहन जारी है। पुलिस अधीक्षक को चिन्हित थानों में पदस्थ अमलों को सख्त निर्देश देने की आवश्यकता है।

पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में हुई कार्यवाही

मण्डला पुलिस अनुविभागीय अधिकारी एव्ही सिंह ने बताया कि ये कार्यवाही पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में की गई है। उन्होंने लॉकडाउन के समय से समस्त थाने और चौकियों में पदस्थ अमलों को निर्देश दिया है कि रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन पर कार्यवाही करें। इसी तारतम्य में 21 जून को एसडीओपी एव्ही सिंह द्वारा अवैध रेत का उत्खनन एवं परिवहन की शिकायत मिलने पर जबलपुर-मंडला मार्ग पर नाकाबंदी कर अंजनिया से नारायणगंज तरफ जा रही रेत से भरे ट्रक क्रमांक एमपी 20 जीए 1650 चालक राजकिशोर पिता गंगाराम लोधी निवासी सिंघनपुरी थाना टिकरिया को रोककर चेक किया गया एवं रेत के संबंध में रॉयल्टी एवं अन्य अनुमति के बारे में पूछताछ की गई। उक्त व्यक्तियों द्वारा रेत के उत्खनन एव परिवहन के संबंध में किसी प्रकार की कोई रायल्टी या अनुमति नहीं होना बताया गया।

नहीं मिले दस्तावेज इसलिए हुई कार्यवाही

जब पुलिस को पूछताछ के दौरान कोई भी दस्तावेज नहीं प्राप्त हुये तो पुलिस द्वारा ट्रक से रेत का अवैध तरीके से उत्खनन कर परिवहन करते पाये जाने से ट्रक क्रमांक एमपी 20 जीए 1650 को जप्त कर थाना कोतवाली में खड़ा करवाया गया है तथा उक्त ट्रक के विरूद्ध रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन करने के संबंध में अग्रिम कार्यवाही के लिये प्रकरण खनिज अधिकारी को भेजा गया है। उपरोक्त सम्पुर्ण कार्यवाही एसडीओपी एव्ही सिंह के नेतृत्व में उपनिरीक्षक रितेश शर्मा, आरक्षक अमर सिंह मरकाम, चौन सिंह नरेती, राहुल मरावी, चाआर नवीन कठौते की भूमिका रही। इसी तरह की कार्यवाही हिरदेनगर, तलैयाटोला, बरबसपुर, भड़िया, टिकरवारा, इंद्री, टाटरी पर दबिश देकर पुलिस को कार्यवाही करने की आवश्यकता है क्योंकि खनिज विभाग तो कार्यवाही करने से परहेज कर रहा है। उसे महिने का नजराना प्राप्त हो रहा है। इन क्षेत्रों से बेहिसाब रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन किया जा रहा है।

इधर भण्डारण के नाम पर रॉयल्टी का हो रहा दुरूपयोग

सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई है कि मण्डला से नजदीक पदमी चौराहे पर रेत भण्डारण को लेकर जो अनुमति एवं रॉयल्टी मिली है उसका दुरूपयोग हो रहा है। 125 रूपये घर मीटर की रॉयल्टी 600 रूपये में बेच रहे हैं, वहीं 15 जून तक रेत भण्डारण करने की स्वीकृति मिली थी जिसकी मियाद समाप्त हो चुकी है फिर भी खनिज विभाग ने इस विषय पर अनदेखी करते हुये नियम विरूद्ध काम करने वाले रेत माफियाओं को संरक्षण देने का काम कर रहे हैं।

सस्ते दामों में उपलब्ध कराने के लिए मिली थी अनुमति

उक्त क्षेत्र में रेत जितनी भण्डारित होनी थी वह नहीं हुई है, जबकि भण्डारण से रेत जरूरतमंद लोगों को सस्ते दामों में उपलब्ध कराने के लिए अनुमति मिली थी। समय बीत गया न तो वहां रेत भण्डारित हो पाई और ना ही मियाद समाप्त होने के बाद रॉयल्टी निरस्त हो पाई। भण्डारण के नाम पर जो रॉयल्टी ठेकेदार को मिली है उसका दुरूपयोग हो रहा है। जब इस संबंध में खनिज निरीक्षक से चर्चा हुई तो उन्होंने कहा कि रेत भण्डारण में मात्रा का कोई बंधन नहीं है, वहीं रॉयल्टी का दुरूपयोग हो रहा है तो इसकी जाँच की जायेगी।

माफियाओं ने नियम रखे ताक पर

वर्तमान में बारिश का दौर प्रारंभ है जिससे एक बार फिर नदी नाले ऊफान आ जायेंगे इसी हड़बड़ाहट में रेत का अवैध उत्खनन कार्य दिन व दिन चौड़ा होता जा रहा है। माफिया सीमांकन क्षेत्र से पार होकर रेत का उत्खनन कर रहे हैं और मण्डला जिले के अधिकारी मोटी रकम लेकर शांत हाथ पर हाथ धरे बैठे हुये हैं ऐसा हम नहीं जिले की जनता कह रही है। रेत का परिवहन बढ़ने से सड़कों पर लम्बा जाम भी लग रहा है कोई मरता है तो मरे, लेकिन जिला प्रशासन को कोई सरोकार नहीं है। रेत का यह कारोबार इस कदर बढ़ गया है कि माफिया और रेत के सौदागर पर्यावरण नियमावली को ताक पर रख कर अपनी रोटी सेंकने में लगे हुये हैं और जिला प्रशासन उनके साथ भाईचारा निभा रहे है। रेत के मसले पर लगातार शिकायते प्राप्त हो रही है, फिर भी खनिज विभाग की कार्यवाही शून्य है। जिस थाली में खा रहे हैं उसी में छेद करने की तर्ज पर काम करने वाला खनिज विभाग शासन के खजाने में भरने वाला राजस्व जिसको क्षति पहुंचाने से जरा भी गुरेज नहीं कर रहे हैं।

रेत के खनन में मशीन का उपयोग नहीं करना है वर्तमान में मजदूरों से काम लेना है, ताकि उन्हें रोजगार मिल सके, वहीं जिस संबंध में आपने मामला संज्ञान में लाया है उसकी जाँच की जायेगी।

श्रीमति स्नेहलता, निरीक्षक, खनिज विभाग मण्डला

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co