Raj Express
www.rajexpress.co
कांग्रेस विधायक जजपाल सिंह ' जज्जी'
कांग्रेस विधायक जजपाल सिंह ' जज्जी' |Deepika Pal - RE
मध्य प्रदेश

भोपाल: बीजेपी विधायक के बाद अब इस नेता की सदस्यता खतरे में

भोपाल, मध्यप्रदेश : भाजपा के पूर्व विधायक प्रहलाद लोधी के बाद कांग्रेस के एक विधायक की सदस्यता खतरे में पड़ती आ रही है नजर।

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में पूर्व विधायक लोधी मामले के बाद कांग्रेस के एक नेता विधायक की सदस्यता को खतरे में होने का मामला सामने आया है। कांग्रेस के विधायक जजपाल सिंह 'जज्जी' के जाति परिवर्तन करने के मामले पर हाइकोर्ट द्वारा कार्रवाई करने पर मामला फिर से छानबीन समिति के हाथों में है।

मामले को लेकर कांग्रेस में मचा हड़कंपः

इस मामले को लेकर कांग्रेस में हड़कंप मच गया है दरअसल कांग्रेस विधायक जज्जी पर आरोप है कि उनके द्वारा जाति को लेकर बार- बार परिवर्तन किया गया है जिसमें सामान्य कोटे के आधार पर जनपद सदस्य बने फिर कीर जाति ओबीसी के आधार पर आरक्षित नगरपालिका अशोकनगर के अध्यक्ष पद के लिए निर्वाचित हुए।

जिसके बाद नेता दोबारा अशोकनगर की आरक्षित विधानसभा सीट के लिए नट जाति का बताकर अनुसूचित जाति के आधार पर चुनाव लड़ा। जिस मामले पर पुलिस की जांच में पाया गया कि, नेता सिख जाति से संबंध रखते हैं।

क्या था मामलाः

बता दे कि, 2013 में कांग्रेस नेता जज्जी के अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र के संबंध में उच्च स्तरीय मध्यप्रदेश जाति प्रमाण पत्र छानबीन समिति के पास शिकायतें आई थी। जिस पर सुनवाई करते हुए समिति ने नेता का प्रमाण पत्र रद्द कर दिया था। जिसके बाद नेता ने हाइकोर्ट में आदेश के विरुद्ध याचिका दायर की थी जिसके बाद जांच समिति के आदेश पर कोर्ट ने रोक लगा दी थी।

विपक्ष ने राज्यपाल के पास जाने का फैसला किया :

इस मामले के संबंध में भाजपा ने फर्जी जाति मामले का आधार बताकर राज्यपाल लाल जी टंडन के पास जाने का फैसला किया है जो जज्जी को अयोग्य घोषित कर सकें।

हाल ही के प्रहलाद लोधी मामले के बाद से ही इस मामले ने जोर पकड़ लिया है।

अनुसूचित जाति कल्याण विभाग के सचिव का क्या कहना है

कलेक्टर की रिपोर्ट के आधार पर उक्त विधायक से पंद्रह दिनों के भीतर जवाब देने की बात कही थी जिस पर विधायक ने जवाब देने के लिए 15 दिन का समय और चाहा था, जो 20 नवंबर को पूरा होने वाला है। उसके जवाब के बाद छानबीन समिति में मामला रखा जाएगा।

विनोद कुमार, प्रमुख सचिव, अनुसूचित जाति कल्याण विभाग

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।