मौसम परिवर्तन: भीषण गर्मी में तपा प्रदेश, कई स्थानों पारा 46 डिग्री
भीषण गर्मी में तपा प्रदेशSocial Media

मौसम परिवर्तन: भीषण गर्मी में तपा प्रदेश, कई स्थानों पारा 46 डिग्री

मध्यप्रदेश के कई स्थानों पर पारा 46 डिग्री के आसपास पहुंच गया, जिसके चलते राजधानी भोपाल सहित अन्य कई स्थानों पर जमकर तपिश देखी गयी।

राज एक्सप्रेस। प्रदेश में कोरोना संकटकाल के बीच नौतपा का प्रभाव भी जोरों पर है इस भीषण गर्मी के बीच आज मध्यप्रदेश के कई स्थानों पर पारा 46 डिग्री के आसपास पहुंच गया, जिसके चलते राजधानी भोपाल सहित अन्य कई स्थानों पर जमकर तपिश देखी गयी।

मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वैज्ञानिकों के अनुसार राजस्थान से आ रही गर्म हवाओं का प्रभाव राजधानी भोपाल सहित प्रदेश भर में देखा गया। इसका सबसे अधिक प्रभाव रीवा, शहड़ोल, ग्वालियर, चंबल, सागर, जबलपुर और होशंगाबाद संभागों के अलावा नरसिंहपुर, खंडवा, खरगोन, रायसेन और राजगढ़ जिलों में देखने को मिला, जहां अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंच गया है, हालांकि इस बीच कई स्थानों पर लू का भी प्रभाव रहा, जिसके चलते मौसम विभाग के लोगों से सूर्य की किरणों के सीधे संपर्क में नहीं आने, हल्के रंग के कपड़े पहनने तथा पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करने सलाह दी है।

आपको बताते चलें कि, प्रदेश का सबसे अधिक तापमान खजुराहो, नौगांव, रीवा, खरगोन, ग्वालियर, दतिया एवं मुरैना में रहा, जहां पारा 46 डिग्री या इससे अधिक दर्ज किया गया, जिससे इन जगहों पर गर्मी का खासा प्रभाव देखा गया, विभाग के अनुसार अगले चौबीस घंटों के दौरान भी मौसम से राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। कल भी कई स्थानों पर लू चलने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि विभाग ने यह भी संभावना जताई है कि दो से तीन दिन बाद यानी 29 और 30 मई को मौसम में हल्का परिवर्तन देखने को मिल सकता है। इसके बाद एक बार फिर गर्मी अपने सख्त तेवर दिखाना शुरू कर देगी।

राजधानी भोपाल तथा उसके आसपास के क्षेत्रों में आज सुबह से मौसम में तल्खी देखी गयी। तेज धूप और लू के प्रभाव के चलते सड़कों का कम ही लोग दिखाई दिए। आने वालों कुछ दिनों तक यहां पारा 44 डिग्री के आसपास बना रहने से गर्मी के तेवर सख्त रहने के आसार जताए जा रहे हैं।

डिस्क्लेमर: यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co