प्रेस कांफ्रेंस में कई मुद्दों पर बोले मंत्री सारंग, दिग्गी को घेरते हुए कही ये बात
प्रेस कांफ्रेंस में कई मुद्दों पर बोले मंत्री सारंगSocial Media

प्रेस कांफ्रेंस में कई मुद्दों पर बोले मंत्री सारंग, दिग्गी को घेरते हुए कही ये बात

भोपाल, मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कोरोना, कांग्रेस पर तंज कसने सामने कई मुद्दों को लेकर प्रेस कांफ्रेंस में बयान जारी किए हैं।

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोरोना संकट के इस माहौल में सियासी गलियारे से राजनेताओं के बयान सामने आ रहे हैं इस बीच मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कोरोना, कांग्रेस पर तंज कसने सामने कई मुद्दों को लेकर प्रेस कांफ्रेंस में बयान जारी किए हैं। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कही ये बात।

दिग्गी के ट्वीट पर सारंग ने जमकर निशाना साधा

बता दें कि एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा- "मैं एक हिंदू हूं, मगर मैं खतरे में नहीं हूं, क्योंकि मैं भारत का हिंदू हूं, भाजपा का नहीं" दिग्गी के इस ट्वीट पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने जमकर निशाना साधा है, मंत्री विश्वास सारंग ने बयान देते हुए कहा- दिग्विजय सिंह ने आज ट्वीट किया है कि वह हिंदू हैं लेकिन उनको यह बताने की ज़रूरत क्यों पड़ रही है क्योंकि वह पाकिस्तान की परस्ती करते हैं उन पर इल्ज़ाम लगते हैं कि वह पाकिस्तान के हिसाब से चलते हैं।

प्रदेश में कोरोना की स्थिति को लेकर कही बात-

प्रदेश में कोरोना की स्थिति को लेकर मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना की स्थिति तो नियंत्रण में है लेकिन कुछ केस में वृद्धि हुई है, वही मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि- कोरोना के केस पूरी दुनिया में फिर से तेज़ी से बढ़ रहे हैं, हमें कोरोना प्रोटोकॉल का सख़्ती से पालन करना होगा।

कमलनाथ पर कसा तंज

मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि कमलनाथ किस मुँह से आदिवासी अधिकार यात्रा निकाल रहे हैं क्योंकि उन्होंने ही तो आदिवासियों का हक़ मारा है। परिसीमन आयोग के नियम अनुसार 2008 में छिन्दवाड़ा लोकसभा क्षेत्र, जो आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है, को आदिवासियों के लिए आरक्षित होना था लेकिन कमलनाथ ने धांधली करके नहीं होने दिया।

यह यात्रा कांग्रेस का नाटक है। यदि कांग्रेस आदिवासियों की हितैषी होती तो कमलनाथ परिसीमन के समय आदिवासियों के लिए आरक्षित हो रही छिंदवाड़ा सीट को क्यों नहीं होने दिया। यदि आदिवासी नेता सदन में जाता तो वह अच्छे से उनकी बात रख सकता था।

मंत्री विश्वास सारंग ने कहा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co