ग्वालियर : अम्मा के चरणों में बैठ मंत्री तोमर ने सुनी उनकी व्यथा
अम्मा के चरणों में बैठ मंत्री तोमर ने सुनी उनकी व्यथाRaj Express

ग्वालियर : अम्मा के चरणों में बैठ मंत्री तोमर ने सुनी उनकी व्यथा

मंत्री तोमर ने वृद्ध महिला के चरणों में बैठकर उनकी व्यथा सुनी और दो घंटे के अंदर उनको पेंशन दिलवाई। इस दौरान मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि इस तरह की शिकायत आगे से नहीं आना चाहिए।

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। मंत्री के सामने जब कोई अपनी फरियाद लेकर जाता है तो हाथ जोड़कर खड़ा रहता है, लेकिन ऊर्जा मंत्री तोमर ऐसे मंत्रियों में शामिल नहीं है, क्योंकि उनके सामने जब कोई वृद्ध आता है तो मंत्री स्वयं उनके सामने हाथ जोड़कर समस्या सुनते हैं। रविवार को मंत्री तोमर ने वृद्ध महिला के चरणों में बैठकर उनकी व्यथा सुनी और दो घंटे के अंदर उनको पेंशन दिलवाई। इस दौरान मंत्री ने अधिकारीयों से कहा कि इस तरह की शिकायत आगे से नहीं आना चाहिए। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिहं रविवार को कम्युनिटी हॉल कांचमिल में जनसमस्या निवारण शिविर में लोगों की समस्याएं सुन रहे थे।

शहर के जोन क्रमांक-5 कम्युनिटी हॉल कांचमिल में रविवार को लगे शिविर में लगभग एक हजार आवेदन आए। मंत्री तोमर ने सभी की समस्याओं को बारी-बारी से सुना और अधिकांश लोगों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण कराकर हितग्राही को संतुष्टि के साथ घर भेजा। मंत्री ने शिविर में मौजूद अधिकारियों से कहा कि जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए लगाए गए शिविर के सार्थक परिणाम तभी आयेंगे, जब लोगों की समस्याओं का निराकरण शीघ्रता से हो। इसलिये पूरी गंभीरता के साथ हर समस्या का समाधान करें।

जनसमस्या निवारण शिविर में अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव, महाप्रबंधक विद्युत विनोद कटारे, महाप्रबंधक संचा/संधा. सुनील कुमार खरे, उपमहाप्रबंधक पीके हजेला, पूर्व पार्षद शशि शर्मा, पूर्व पार्षद केशव मांझी, प्रशासन व विधुत विभाग के विभागीय अधिकारी व नगर निगम के विभागीय अधिकारी एवं क्षेत्रिय जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी उपस्थित थे।

जमीन पर बैठकर सुनी वृद्ध महिलाओं की समस्या :

ऊर्जा मंत्री तोमर ने शिविर में आईं बुजुर्ग महिलाओं की समस्यायें जमीन पर बैठकर सुनीं। कुछ बुजुर्ग महिलाओं ने मंत्री को बताया कि अंगूठा न लगने से पिछले 6 माह से विधवा पेंशन नही मिल पा रही है। ऊर्जा मंत्री ने मौके पर अधिकारियों को बुलाकर इन बुजुर्ग महिलाओं की समस्याओं का निराकरण कराया। साथ ही राशन की पात्रता पर्ची जारी करने के लिए संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया।

घंटेभर में मंजूर हो गई पेंशन :

जनसमस्या निवारण शिविर में स्टोन पार्क पुरानी छावनी से आईं श्रीमती ऊषा शाक्य ने अपनी व्यथा सुनाते हुए कहा कि विधवा पेंशन के लिए काफी प्रयास किया पंरतु आज तक पेंशन मंजूर नहीं हो पाई है। पड़ोसी से मालूम चला कि ऊर्जा मंत्री जी द्वारा जनसमस्या निवारण शिविर लगाया जा रहा है। मंत्री तोमर को जब श्रीमती ऊषा शाक्य की समस्या का पता चला तो उन्होंने एक घंटे में विधवा पेंशन मंजूर कराकर ऊषा शाक्य को स्वीकृति प्रमाण पत्र दिलवा दिया। इसी तरह श्रीमती जानकी देवी की भी शिविर में आने के एक घंटे के भीतर पेंशन स्वीकृत हो गई। दोनों महिलायें मंत्री श्री तोमर को दुआयें देती अपने घर लौटीं।

वृद्ध, विधवा पेंशन, कामकाजी महिला एवं मजदूरी के कार्ड वितरित किये :

जनसमस्या निवारण शिविर में 25 हितग्राहियों के वृद्धावस्था व विधवा पेंशन, कामकाजी महिला के 100 एवं निर्माण श्रमिकों के 30 आवेदन आये। तोमर ने शिविर के माध्यम से लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत 5 महिलाओं को प्रमाण-पत्र सौंपे।

आज ग्वालियर कमेटी हॉल,कांचमिल पर आम जनता की सुविधा के लिए लगाये गये जनसमस्या निवारण शिविर में हितग्राहियों के वृद्ध व...

Posted by Pradhuman Singh Tomar on Sunday, December 20, 2020

बिजली के बिलों का भी हुआ निराकण :

जनसमस्या निवारण शिविर में सबसे ज्यादा समस्या बिजली के बिलों की आई। ऊर्जा मंत्री तोमर ने मौके पर ही बिजली बिल संबंधी समस्याओं का निराकरण कराया। शिविर में खासतौर पर आंकलित खपत, बिल ज्यादा आना, मीटर रीडींग न लेना, मीटर बदलवाने, नवीन कनेक्शन से संबंधित आदि समस्याओं का निराकरण मौके पर ही कराया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co