गेहूॅं समर्थन मूल्य खरीदी 10 जून तक बढ़ाने की,की मांग: विधायक गुर्जर
विधायक दिलीप सिंह गुर्जर ने CM शिवराज से की मांगGaurav Kapoor

गेहूॅं समर्थन मूल्य खरीदी 10 जून तक बढ़ाने की,की मांग: विधायक गुर्जर

प्रत्येक पंजीयन किसान का गेहूॅं तुले इस हेतू 10 जून तक समर्थन मूल्य पर खरीदने की समय सीमा बढ़ाने की मांग विधायक दिलीप सिंह गुर्जर ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से की।

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के नागदा शहर में समर्थन मूल्य गेहूॅं खरीदी 31 मई तक बढ़ाने के बावजूद भी हजारों किसान अपनी फसल गेहूॅं बेचने से वंचित रह जायेगें इसलिए प्रत्येक पंजीयन किसान का गेहूॅं तुले इस हेतू 10 जून तक समर्थन मुल्य पर खरीदने की समय सीमा बढ़ाने की मांग विधायक दिलीप सिंह गुर्जर ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से की है।

श्री गुर्जर ने बताया कि कई दिनों बारदानों की कमी के कारण तुलाई बंद रहने, समय पर तुलाई न होने के कारण ट्रैक्टरों की लम्बी कतारों को देखते हुए शासन द्वारा समर्थन मूल्य खरीदी 31 मई तक बढ़ाई गई है परंतु इस अवधि में बचे हुए बडे किसानों का गेहूॅं नही तुल पायेगा जिससे हजारों किसान अपनी फसल बेचने से वंचित रह जायेगें।

साथ ही आज भी 1269 ट्रालियां प्रत्येक केन्द्रों पर 100 से 250 किसान अपने किराये के ट्रैक्टर लिए 5-7 दिन से भूखे, प्यासे भीषण गर्मी में खड़े होकर तुलाई के लिये नम्बर आने का इंतजार कर रहे हैं जिससे की उन्हें आर्थिक हानि के साथ-साथ समय की बर्बादी भी हो रही है वहीं बारदान की कमी के कारण तुलाई नहीं हो पा रही है फिर भी पर्याप्त मात्रा में केन्द्र की कार्य क्षमता के आधार पर मैसेज नहीं किये जा रहे हैं जिससे लगता है कि शासन जानबूझकर गेहूॅं खरीदी नहीं करना चाहता यदि शासन का यही दोहरा रवैया रहा तो बढ़ाई गई अवधि में भी हजारों किसान अपनी फसल बेचने से वंचित रह जायेगें।

गुर्जर ने बताया कि नागदा-खाचरौद विधानसभा क्षेत्र के 16 उपार्जन केन्द्रों पर खरीदी के 5 दिन बचे हैं और 1850 किसानों का 377562 क्विंटल गेहूॅं तुलना शेष है तथा इनका मैसेज आना भी शेष है और इसके लिए करीब 1070 गठानों की आवश्यकता होगी जबकि अभी बारदान ही उपलब्ध नहीं है आंकड़ों के हिसाब से निश्चित रूप से 31 मई तक सभी किसानों की गेहूॅं नहीं तुल पायेगा और सैकडों किसान उपज बेचने से वंचित रह जायेगें। यह एक विधानसभा का आंकड़ा है तो सभी विधानसभाओं में आंकड़ों हजारों में पहुंचेगा यदि भाजपा सरकार सभी पंजीयन किसानों का गेहूॅं खरीदना चाहती है तो समयावधि 10 जून की जाये तथा बारदानों की व्यवस्था करे नहीं तो किसानों में पनप रहा आक्रोश आंदोलन में बदल जायेगा।

साथ ही बताया कि, खरीदे गये गेहूॅं के परिवहन न होने के कारण किसानों के बिलों का भुगतान नहीं हो पा रहा है शासन तत्काल गेहूॅं परिवहन कर किसानों की फसल उपज का बिल अदा करे यदि किसानों के बिल भी बनाये जा रहे तो कमलनाथ सरकार द्वारा माफ किये गये किसानों के पैसे क्यों वसूल रही है जो कि नियम विरूद्ध है उन किसानों का पैसा भी वापस किया जाना चाहिए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co