ग्वालियर-चंबल अंचल को आधुनिक और संस्कृति प्रारूप प्रदान किया जाएगा : सिंधिया
ग्वालियर-चंबल अंचल को आधुनिक और संस्कृति प्रारूप प्रदान किया जाएगा : सिंधियाSocial Media

ग्वालियर-चंबल अंचल को आधुनिक और संस्कृति प्रारूप प्रदान किया जाएगा : सिंधिया

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज कहा कि ग्वालियर-चंबल अंचल को आधुनिक और संस्कृति स्वरूप प्रदान किया जाएगा, जिसके लिए विभिन्न योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज कहा कि ग्वालियर-चंबल अंचल को आधुनिक और संस्कृति स्वरूप प्रदान किया जाएगा, जिसके लिए विभिन्न योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है।

श्री सिंधिया ने यहां विकास कार्यो की समीक्षा के बाद पत्रकारों से चर्चा में यह बात कही। उन्होंने कहा कि ग्वालियर चंबल को आधुनिक और संस्कृति प्रारूप बनाया जाये। इस योजना के लगभग आठ से नौ पहलू हैं। इसके पहले भाग मेें वर्ष 2050 तक की महत्वाकांक्षी योजना ग्वालियर और मुरैना में पर्याप्त पानी उपलब्ध कराने की है। इसी योजना पर काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने चंबल से मुरैना के लिये पानी लाने की योजना स्वीकृत कराई है।

उन्होंने कहा कि केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर और सांसद विवेक शेजवलकर ने मिलकर ग्वालियर के लिये पानी लाने की योजना भी तैयार की है। इसके तहत चंबल राजघाट से मुरैना तक और मुरैना के कोतवाल बांध से ग्वालियर तक पाइप लाइन से पानी लाने की योजना को स्वीकृत कराकर उस पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि दूसरी महत्वाकांक्षी योजना स्वर्ण रेखा पर एलीवेटेड रोड का बनाना है। इससे यातायात की समस्या का समाधान होगा।

श्री सिंधिया ने कहा कि इसी तरह तीसरी महत्वाकांक्षी योजना डीआरडीई की शिटिंग की है। इसके लिये 140 एकड जमीन डीआरडीई को आवंटित किया गया । यह योजना भी 290 करोड़ की है। इसके लिये उनकी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात हुई थी और उन्होंने इस योजना का शुभारंभ करने की स्वीकृत प्रदान की है। संभवत: यह भी अक्टूबर माह में शुरू हो जाएगी।

केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया ने कहा कि इसी के साथ रेल सेवाओं का विस्तार करने की योजना बनाई जा रही है। इसके तहत एक नया रेल स्टेशन सांसद शेजवलकर की लंबी लडाई के बाद बनाया जायेगा। इसके तहत दो सौ करोड की योजना है। इसके लिये अक्टूबर मेें टेंडर लगेगा और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव इसका शुभारंभ करने आयेंगे। इसके लिये आईआईएसडीसी ने आधुनिक रेल स्टेशन का प्रारूप तैयार किया है।

श्री सिंधिया ने कहा कि नागर विमानन मंत्रालय में उन्होंने तेजी से काम करना शुरू किया है। इसी के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वोकल फॉर लोकल और लोकल से ग्लोबल तक की योजना तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब एयर स्पेश में बढोत्तरी की जा रही है। वहीं, ड्रोन टेक्रोलॉजी की पॉलिसी लागू की जा रही है। इससे रोजगार के नये अवसर भी पैदा होंगे। उन्होंने बताया कि ग्वालियर में अभी चार एयरक्राफ्ट के लिये एक टर्मिनल है। इसका विस्तार कर 170 एकड़ में नया एयरपोर्ट बनाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इसके बनने से पूरे देश से ग्वालियर जुड जायेगा। वहीं बड़े विमान भी उतारे जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि इसके लिये भूमि पूजन फरवरी या मार्च 2022 में किया जायेगा और इसे 23 अगस्त तक इसका निर्माण पूरा कर लिया जायेगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.