इंदौर : मोटर मालिक नहीं देगें उपचुनाव के लिए बसें, नहीं मिला पुराना भुगतान

इंदौर, मध्य प्रदेश : प्रदेश में उपचुनाव से पहले बस मालिकों ने अपने बकाया राशि के भुगतान के लिए मोर्चा खोल लिया है।
इंदौर : मोटर मालिक नहीं देगें उपचुनाव के लिए बसें, नहीं मिला पुराना भुगतान
मोटर मालिक नहीं देगें उपचुनाव के लिए बसेंसांकेतिक चित्र

इंदौर, मध्य प्रदेश। प्रदेश में उपचुनाव से पहले बस मालिकों ने अपने बकाया राशि के भुगतान के लिए मोर्चा खोल लिया है। प्राइम रूट बस ऑनर्स एसोसिएशन मध्य प्रदेश द्वारा विधानसभा चुनाव के बकाया राशि नहीं देने पर उपचुनाव में बसें नही देने की घोषणा की है। उन्होंने मप्र शासन से भी विभिन्न आयोजन के बताया भुगतान तत्काल जारी करने की मांग की है।

प्राइम रूट बस ऑनर्स एसोसिएशन मप्र के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने बताया कि वर्ष 2018 विधानसभा चुनाव में लगी 136 बसो का एक करोड़ 27 लाख 54,000 का भुगतान मप्र चुनाव आयोग द्वारा मोटर मालिकों को नहीं किया गया। वर्ष 2018 में विधानसभा चुनाव में इंदौर जिले से 136 बसों को इंदौर जिला प्रशासन, इंदौर आरटीओ एवं पुलिस प्रशासन ने वाहनों को अधिगृहण कर 15 दिवस के लिए बालाघाट मध्य प्रदेश में भेजा गया। मप्र परिवहन विभाग के विभागीय आदेश दिनांक 6 अक्टूबर 2018 के तहत 35 सीटर बस और अधिक सीटर बस का किराया 35 रूपए प्रति किलो मीटर एवं 45 किलो मीटर पर बसों का अधिग्रहण आदेश जारी किया गया। 136 बसों को जिला प्रशासन ने बालाघाट भेजा गया जिसका एक करोड़ 27 लाख 54 हजार का बिल बनाकर इंदौर आरटीओ द्वारा बालाघाट भेजा गया था, परंतु बालाघाट प्रशासन ने 1250 प्रतिदिन के मान से बिल भुगतान के लिए भेजा गया जिसको मोटर मालिकों ने स्वीकार नहीं किया गया। प्राइम रुट बस आनर्स एसोसिएशन ने जिला निर्वाचन पदाधिकारी इंदौर एवं मध्य प्रदेश निर्वाचन पदाधिकारी भोपाल को पत्र लिखकर भुगतान की मांग की गई परंतु 2 वर्ष गुजरने के बावजूद भी अभी तक भुगतान नहीं हुआ है। एसोसिएशन के अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने बताया कि यदि जिला प्रशासन ने विधानसभा चुनाव का बकाया भुगतान नहीं किया तो बस मालिक आगामी उपचुनाव में अपनी बसों को नहीं देंगे।

मप्र सरकार ने भी बकाया का भुगतान नहीं किया :

प्राइम रूट बस आनर्स एसोसिएशन प्रदेश अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने बताया कि वर्ष 2016 से वर्ष 2018 के दौरान मध्य प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार के सम्मेलन आयोजित कर 4976 बसों के 1 करोड 70 लाख का बकाया नहीं किया गया। इससे मोटर मालिको में भारी रोष है। बस मासिकों का बकाया भुगतान वर्ष 2016 में महू, अलीराजपुर, भोपाल, उ'जैन सम्मेलन में लगी कुल 2612 बसों का भुगतान बकाया 38 लाख 95 हजार रूपए। वर्ष 2017 में बडवानी, अमरकंटक ,इंदौर नगर निगम सम्मेलन में कुल 696 बसें उपयोग की गई। इनका बकाया भुगतान 41 लाख 11 हजार रूपए है। वही वर्ष 2018 में भोपाल, महू, शाजापुर, देवास के साथ इंदौर नगर निगम और इंदौर प्रशासन के सम्मेलन में कुल 1638 बसें उपयोग की गई और इनका 91 लाख 55 हजार का भुगतान बकाया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co