भव्य स्तर पर होगा मप्र स्थापना दिवस समारोह, अधिकारियों ने तैयारियों की समीक्षा की
भव्य स्तर पर होगा मप्र स्थापना दिवस समारोहसांकेतिक चित्र

भव्य स्तर पर होगा मप्र स्थापना दिवस समारोह, अधिकारियों ने तैयारियों की समीक्षा की

भोपाल, मध्यप्रदेश : मध्यप्रदेश स्थापना दिवस एक नवम्बर को होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों को अंतिम रूप देने के लिए मंगलवार को मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने लाल परेड मैदान पर तैयारियों की समीक्षा की।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश स्थापना दिवस एक नवम्बर को होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों को अंतिम रूप देने के लिए मंगलवार को मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने लाल परेड मैदान पर तैयारियों की समीक्षा की। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन विभाग विनोद कुमार, अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा, सचिव संस्कृति और जनसम्पर्क विभाग शिवशेखर शुक्ला, एडीजी मिलिंद देऊस्कर, आयुक्त भोपाल कवीन्द्र कियावत, एडीजी ए. सांई मनोहर, कलेक्टर अविनाश लवानिया और डीआईजी इरशाद वली उपस्थित थे।राज्य स्तरीय समारोह लाल परेड ग्राउण्ड में भव्य स्तर पर एक दिवसीय होगा। मध्यप्रदेश स्थापना दिवस समारोह 01 नवंबर को शाम 6:30 बजे से आयोजित किया जाएगा। आत्मनिर्भर मप्र के लिए जनभागीदारी अभियान की थीम पर 45 से 50 मिनिट की अवधि की नृत्य-नाट्य को ध्वनि प्रकाश माध्यमों से प्रस्तुत किया जाएगा। कोरियोग्राफी प्रस्तुति के उपरान्त गीत संगीत के कार्यक्रम की प्रस्तुति होगी।

स्क्रीन लगाकर किया जाएगा राज्य स्तरीय कार्यक्रम का प्रसारण :

जिला मुख्यालयों में किसी प्रमुख स्थान पर बड़ी स्क्रीन लगाकर सायंकालीन राज्य स्तरीय कार्यक्रम के प्रसारण का आम जनता को दिखाने का प्रबंध किया जाएगा। मप्र स्थापना दिवस के अवसर पर कार्यक्रम सभी जिला मुख्यालयों पर आयोजन किए जाऐंगे, जिसमें प्रमुखत: आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के लिए जनभागीदारी अभियान पर केन्द्रित गायन, वादन, नृत्य, वाद विवाद प्रतियोगिता मैराथन दौड़, रैली, प्रभात फेरी इत्यादि के आयोजन किए जाऐंगे।

प्रमुख भवनों पर की जाएगी रोशनी :

प्रमुख शासकीय भवनों एवं ऐतिहासिक स्मारकों पर 01 नवम्बर की रात्रि को प्रकाश की व्यवस्था की जाएगी। राज्य शासन के समस्त प्रमुख भवनों पर प्रकाश व्यवस्था करने की जिम्मेदारी संबंधित कार्यालय प्रमुख की रहेगी। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों, उद्योगपतियों, व्यवसायियों, समाजसेवियों, धर्मगुरूओं, स्वयंसेवी संस्थाओं, हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी विद्यालयों एवं महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं, शासकीय अधिकारी - कर्मचारियों, जिले के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, लोकतंत्र सेनानियों एवं शहीद सैनिकों के परिवारों को विशेष तौर पर आमंत्रित किया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co