मध्य प्रदेश: शिवराज सरकार फिलहाल नहीं देगी कोरोना कर्फ्यू में ढील
मध्य प्रदेश: शिवराज सरकार फिलहाल नहीं देगी कोरोना कर्फ्यू में ढील Social Media

मध्य प्रदेश: शिवराज सरकार फिलहाल नहीं देगी कोरोना कर्फ्यू में ढील

कोरोना से बचने का सबसे अच्छा उपाय सावधानी से घर में रहना ही है। इसी के चलते मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने फिलहाल कोरोना कर्फ्यू में ढील न देने का फैसला किया है।

मध्य प्रदेश। पूरे भारत में कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। देश में अब तक कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा दो करोड़ से भी ऊपर पहुंच चुका है। हालांकि, हर दिन लाखों लोग कोरोना की जंग जीत कर अपने घर भी लौट रहे हैं, लेकिन बीते कुछ दिनों में सामने आये मौत के आंकड़े को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। कोरोना से बचने का सबसे अच्छा उपाय सावधानी से घर में रहना ही है। इसी के चलते मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने फिलहाल कोरोना कर्फ्यू में ढील न देने का फैसला किया है।

प्रदेश में नहीं मिलेगी ढील :

दरअसल, कोरोना से सावधानी रखने के लिए देश भर में लगातार 2 महीने से भी ज्यादा समय तक लॉकडाउन रहा। परंतु आर्थिक नुकसान को देखते हुए सरकार ने देश को अनलॉक कर दिया था। वहीं, अब कई राज्य की सरकारें अपने लेवल पर दोबारा लॉकडाउन या नाइट और कोरोना कर्फ्यू लागू कर चुकी हैं। इसी कड़ी में मध्य प्रदेश की सरकार द्वारा भी प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया था। जो 17 मई तक लागू रहेगा। हालांकि, शिवराज सरकार ने इसको आगे बढ़ने के संकेत अभी से दे दिये हैं। क्योंकि, प्रदेश की सरकार ने आज 10th की परीक्षा रद्द और 12th की परीक्षा फिलहाल कैंसिल कर दी है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का कहना :

10th और 12th की बोर्ड परीक्षा को लेकर जारी किए गए आदेश इस बात का संकेत है कि, प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू की अवधि बधाई जा सकती है। साथ ही इस साझा करते हुए मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा,

'हमें कई काम करने हैं। आज ऐसी स्थिति नहीं है कि, हम ये कह सकें कि संक्रमण को हमने काबू कर लिया है। स्थिति में सुधार है फिर भी अभी कोरोना कर्फ्यू में ढील नहीं दे सकते। जिला क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप को इसका फैसला लेना है। नहीं तो सारे किये धरे पर पानी फिर जाएगा। जहां संक्रमण की दर बहुत नीचे है वहां कर्फ्यू हटाया जा सकता है, लेकिन बहुत सोच समझकर वैज्ञानिकों से बात करके फैसला लेना। हमें वायरस के रहते हुए ज़िंदगी को जीने की आदत डालना होगी। पूरे एहतियात के साथ हमें घरों से निकलना होगा। क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप लोग जनता को जागरुक करें। जनता से अपील है कि, हमें कोरोना संक्रमण को काबू में रखते हुए काम करना होगा। शादी-विवाह, बड़े समारोह, मेले नहीं होंगे।

शिवराज सिंह चौहान, मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री

CM ने की अपील :

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने जनता से अपील करते हुए कहा है कि, खुद को स्वस्थ रखने के लिए योग करें। अपना आचरण बदलें। योग-प्राणायाम करें। सूरज के संपर्क में रहें। धूप लें। उससे ऊर्जा मिलेगी। भोजन वो करें जो शरीर के लिए हितकारी हो। खाने के लिए न जीयें बल्कि अच्छा स्वास्थ रखने के लिए खाएं। इसके अलावा भी उन्होंने कई घोषणाएं की है।

ऑक्सीजन प्लांट की दी जानकारी :

CM शिवराज सिंह ने अपील करने के अलावा ऑक्सीजन प्लांट से जुड़ी जानकारी देते हुए कहा कि, '100 से ज्यादा ऑक्सीजन प्लांट हम प्रदेश में लगा रहे हैं। इनमें से कुछ अगले महिने जून में शुरू हो जाएंगे। हर शख्स पेड़ ज़रूर लगाएं। इससे ऑक्सीजन मिलेगी। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए हम सबको सारे मतभेद भूलकर एक होकर लड़ना है। एकजुट होकर इस लड़ाई को लड़ें। हमें भरोसा है कि, मध्य प्रदेश -हम मिलकर इस संक्रमण को रोकने का उपाय करेंगे. कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए प्रयास करेंगे। हमने अपने कई लोगों को खोया है. आगे ये नुकसान न हो इसका ध्यान रखें। कोरोना हारेगा-मानवता जीतेगी, हमें ईश्वर मृत्यु से अमृत की ओर ले चलें। सबका मंगल हो-सबका कल्याण हो, लेकिन ये तब होगा जब सब मिलकर प्रयास करेंगे।'

CM की कुछ अन्य घोषणाएं :

  • पानी की समस्या जहां हैं वहां, SDO, MP, MLA, क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप खबर करें। जनता परेशान न हो। कलेक्टर को हम निर्देश दे रहे हैं।

  • हम ग्रुप में एक स्वास्थ्य समिति बना रहे हैं। जिसमें तीन लोगों को शामिल किया जाएगा और चौकीदार खबर करेंगे की किस घर में सर्दी जुकाम है।

  • शहर में वॉर्ड में क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी कोरोना मरीज़ों का ध्यान रखें।

  • सर्दी जुकाम से पीड़ित लोगों को केयर सेंटर में लाकर टेस्ट कराएं।

  • केयर सेंटर की व्यवस्था करना।

  • दवाई से लेकर ऑक्सीजन, राशन, पानी, मनरेगा तक की सारी व्यवस्था यही कमेटी करेगी, कोई भी प्रशासनिक दिक्कत जनता को न हो इसका ध्यान रखें।

  • कलेक्टर्स को साफ कह रहा हूं कि जन प्रतिनिधियों के साथ मिलकर कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ना है।

  • दवा-ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी किसी भी कीमत पर न हो।

  • पुलिस-प्रशासन को इसका ध्यान रखना है।

  • 80 से ज़्यादा केस हम कर चुके हैं।

  • ये हत्या से ज्यादा जघन्य अपराध है।

  • कोई अस्पताल जनता से पैसे वसूल न करे, जो गड़बड़ करें उन्हें हम छोड़ेंगे नहीं।

  • जिला क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी को कोरोना में अनाथ हुए बच्चों की जानकारी जुटाना है।

  • गरीबों और निम्न मध्यमवर्गीय लोगों को निशुल्क इलाज-सरकार अस्पतालों।

  • अनुबंध वाले निजी अस्पतालों और मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना में आयुष्मानकार्डधारी लोगों का निशुल्क इलाज किया जाए।

  • पोस्ट कोविड बीमारियों का इलाज भी निशुल्क किया जाए।

  • इलाज में ज़रूरी इंजेक्शन की कालाबाज़ारी न हो इसका कलेक्टर-एसपी ध्यान रखें।

  • पोस्ट कोविड केयर सेंटर भी तैयार रखें।

  • अस्पताल में इलाज की पर्याप्त व्यवस्था हो इसके लिए हम एक महिने के अंदर 800 नर्स, कंपाउंडर, टैक्नीशियन की भर्ती होगी।

  • हम 5800 बिस्तर बढ़ाने, बच्चों के लिए 500 बेड, 1 हजार आईसीयू बेड बढ़ा रहे हैं।

  • अस्पताल के वॉर्डों का भी ठीक प्रबंधन हो सके। इसके लिए अतिरिक्त भर्ती के साथ मेरी भावपूर्ण अपील है कि, कोविड से ठीक हुए लोग अपना रजिस्ट्रेशन कोरोना वॉरियर के तौर पर कराएं हम उनकी मदद लेंगे।

  • कोरोना वॉरियर डॉक्टर, नर्सों के लिए हम अलग से सम्मान की योजना बना रहे हैं।

  • पत्रकार, मीडिया कर्मियों के लिए हमने आज ही निशुल्क इलाज की व्यवस्था की है।

  • हम फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए योजना बना रहे हैं। जिससे उन्हें मदद मिल सके।

  • किसानों का उत्पाद खरीदेंगे।

  • स्ट्रीट वेंडर के खातों में एक हजार रुपये डाले जा रहे हैं।

'ज़रूरत पड़ी तो और पैसा डालेंगे'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co