MP के राज्यपाल ​और सीएम शिवराज ने 'राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020' का किया शुभारंभ
राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का शुभारंभSocial Media

MP के राज्यपाल ​और सीएम शिवराज ने 'राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020' का किया शुभारंभ

National Education Policy 2020: भोपाल में आयोजित 'राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020' का शुभारंभ कार्यक्रम आयोजित है, राज्यपाल और सीएम ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का औपचारिक रूप से शुभारंभ किया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज भोपाल के मिंटो हाल में 'राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020' का शुभारंभ कार्यक्रम आयोजित है, मध्यप्रदेश के राज्यपाल मंगुभाई पटेल और सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मिंटो हाल में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (National Education Policy 2020) का औपचारिक रूप से शुभारंभ किया है।

राज्यपाल मंगुभाई पटेल एवं मुख्यमंत्री द्वारा मध्यप्रदेश में 'राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020' का शुभारंभ

मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में राज्यपाल महोदय मंगुभाई पटेल के साथ राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का औपचारिक रूप से शुभारंभ किया है, इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री भी उपस्थित रहे। साथ ही उच्च शिक्षा विभाग के अकादमिक सत्र वर्ष 2020-21 की प्रमुख गतिविधियों एवं महत्वपूर्ण उपलब्धियों के संकलन के रूप में प्रकाशित पत्रिका "सफलता के सौपान" का विमोचन राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल, मुख्यमंत्री और उच्च शिक्षा मंत्री ने किया।

सीएम ने प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए कही ये बात

मिंटो हाल में आयोजित कार्यक्रम में सीएम शिवराज ने आज का दिन मेरे लिए अत्यंत प्रसन्नता का दिन है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को हम आज से मध्यप्रदेश में शुरू कर रहे हैं। मैं प्रधानमंत्री को धन्यवाद देता हूं कि विद्यार्थिकों के जीवन को बदलने वाली नई शिक्षा नीति उनके नेतृत्व में बनी।

CM ने कहा- PM मोदी ने शिक्षकों के लिए दिया है 5 सी का मंत्र

मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा कि शिक्षकों के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 5 सी का मंत्र दिया है।

  1. Critical Thinking

  2. Creativity

  3. Collaboration

  4. Curiosity

  5. Community

सीएम बोले- अपने संसाधनों को, ज्ञान को शेयर करने की जरूरत है। मैं विश्वविद्यालयों से आग्रह करूंगा कि उद्योगों के साथ मिलकर काम करें। उद्योगों की आवश्यकता समझते हुए छात्र तैयार करें। हर क्षेत्र से जुड़ें। ताकि शिक्षा को हम और उपयोगी और सार्थक बना सकें।

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा-

नई शिक्षा नीति इस बात की अनुमति देती है कि छात्र फिजिक्स, केमेस्ट्री पढ़ते हुए भी हिंदी का विद्यवान बन सके, संस्कृत का ज्ञान प्राप्त कर सके, इतिहास का अध्ययन कर सके। शिक्षा एकांगी नहीं होती। ज्ञान का मतलब है संपूर्ण ज्ञान। उन सभी विषयों का ज्ञान जो विद्यार्थी चाहते हैं, नैसर्गिक विकास, स्वाभाविक विकास, गुणों के प्रकटीकरण का अवसर, नई शिक्षा नीति विद्यार्थियों को इस बात का इजाजत देती है। हम इन्क्यूवेशन सेंटर, ग्लोबल स्किल पार्क बना रहे हैं, आईटीआई को अपग्रेड कर रहे हैं। हम हाथों को ही इतना कुशल बना देंगे कि रोजगार के अवसर जरूर प्राप्त होंगे।

नागरिकता के संस्कार होना बहुत जरूरी है। विद्यार्थियों को दिशा दे दी तो वह महान विद्यवान बनेंगे, देश और प्रदेश के लिए उपयोग होंगे, दुनिया की समृद्धि और विकास में योगदान दे दें। अगर दिशा गलत पकड़ ली तो समाज के लिए विनाशकारी होंगे।

शिवराज सिंह चौहान

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co