कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि
कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथिSocial Media

MP: स्वतंत्रता सेनानी "कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि" पर नेताओं ने दी विन्रम श्रद्धांजलि

भोपाल, मध्यप्रदेश। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कमलादेवी चट्टोपाध्याय की आज पुण्यतिथि है, इस मौके पर मध्य प्रदेश के कई नेताओं ने उन्हें याद करते हुए नमन किया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, हस्तकला क्षेत्र मे नव-जागरण लाने वाली समाज सुधारक एवं पद्मभूषण व रेमन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित कमलादेवी चट्टोपाध्याय (Kamaladevi Chattopadhyay) की आज पुण्यतिथि है, इस मौके पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नरोत्तम मिश्रा समेत कई नेताओं ने उन्हें याद करते हुए नमन किया है।

कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि पर उन्हें सादर नमन: सीएम

स्वतंत्रता सेनानी "कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने ट्वीट कर कहा है कि, समाजसुधारक, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा भारतीय हस्तकला के क्षेत्र में नवजागरण लाने वाली गांधीवादी महिला कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि पर उन्हें सादर नमन।

कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी श्रद्धांजलि

देश की स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और भारतीय हस्तकला के क्षेत्र में नवजागरण लाने वाली कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि पर मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा है कि, स्वतंत्रता सेनानी, हस्तकला में नवजागरण की प्रणेता व प्रसिद्द लेखिका कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि पर सादर नमन और विनम्र श्रद्धांजलि।

कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि पर किया नमन: मंत्री सारंग

स्वतंत्रता सेनानी, हस्तकला में नवजागरण की प्रणेता व प्रसिद्द लेखिका कमलादेवी चट्टोपाध्याय की पुण्यतिथि पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने ट्वीट कर कहा कि, महान स्वतंत्रता सेनानी, समाज सुधारक एवं देश की राजनीतिक व्यवस्था में चुनाव लड़ने वाली प्रथम महिला कमलादेवी चट्टोपाध्याय जी की पुण्यतिथि पर कोटिशः नमन

आज के दिन कमला देवी चट्टोपाध्याय का हुआ था निधन-

बता दें कि, आज के दिन (29 अक्टूबर 1988) कमला देवी चट्टोपाध्याय का निधन हुआ था, कमलादेवी चट्टोपाध्याय भारतीय समाजसुधारक, स्वतंत्रता सेनानी, तथा भारतीय हस्तकला के क्षेत्र में नवजागरण लाने वाली गांधीवादी महिला थीं, उन्हें सबसे अधिक भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान के लिए; स्वतंत्र भारत में भारतीय हस्तशिल्प, हथकरघा, और थियेटर के पुनर्जागरण के पीछे प्रेरणा शक्ति के लिए और सहयोग की अगुआई करके भारतीय महिलाओं के सामाजिक-आर्थिक स्तर के उत्थान के लिए याद किया जाता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co