मौसम: बर्फीली हवाओं के कारण फिर मौसम का बदला मिजाज, पूरे MP में कड़ाके की ठंड
MP WeatherSocial Media

मौसम: बर्फीली हवाओं के कारण फिर मौसम का बदला मिजाज, पूरे MP में कड़ाके की ठंड

मध्यप्रदेश मौसम अपडेट: उत्तर भारत की तरफ से आ रही बर्फीली हवाओं के कारण राजधानी सहित पूरे प्रदेश में कड़ाके की ठंड बरकरार है, दो दिन और तीखे रहेंगे ठंड के तेवर।

भोपाल, मध्यप्रदेश। एक तरफ जहां प्रदेश में वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के मामलों में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है वहीं दूसरी तरफ इस बीच मध्यप्रदेश में फिर बदला मौसम का मिजाज, उत्तर भारत की तरफ से आ रही बर्फीली हवाओं के कारण राजधानी सहित पूरे मध्य प्रदेश में कड़ाके की ठंड बरकरार है, मध्यप्रदेश में दो दिन और मौसम का मिजाज इसी तरह बना रहेगा।

मप्र में दो दिन और तीखे रहेंगे ठंड के तेवर :

मिली जानकारी के मुताबिक पूर्वी मध्यप्रदेश में नमी के कारण बादल छा गए हैं, इससे प्रदेश के शेष स्थानों पर ठंड का जलवा बरकरार है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 31 जनवरी को एक पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में दाखिल होने की संभावना है, इसके प्रभाव से मौसम का मिजाज बदलने की संभावना है।

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया :

वर्तमान में आसमान साफ होने और हवा का रुख लगातार उत्तरी और उत्तर-पूर्वी बना हुआ है। इस वजह से राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्र ठिठुर रहे हैं, विशेषकर प्रदेश के उत्तरी क्षेत्र में शीतलहर का प्रभाव बना हुआ है।

कोहरे में छिपा ग्वालियर :

मिली जानकारी के मुताबिक उत्तर पूर्वी हवा ने ग्वालियर में शुक्रवार को मौसम के मिजाज में बदलाव ला दिया हैं, ग्वालियर शहर सुबह कोहरे क घनी चादर में लिपटा हुआ। बर्फीली हवा की वजह से ठंड और बढ़ गई। ठंड की चुभन अधिक होने से लोग ठिठुर गए। बता दें कि लगातार नमी आने के कारण उस क्षेत्र में बादल छाने लगे हैं, साथ ही जबलपुर और शहडोल संभाग में कहीं-कहीं बारिश के आसार बन रहे हैं।

बताते चलें कि वैसे जनवरी के आखिरी दिन में ठंड कम होने लगती है, लेकिन इस बार मौसम का मिजाज महीने के अंत में बदला है, मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में शीत लहर के आसार जताए हैं। शुक्रवार सुबह तक रायसेन, उमरिया, टीकमगढ़ और सागर जिलों के अलावा रीवा, ग्वालियर और चंबल संभाग के कुछ हिस्सों में भी शीत लहर चलने की संभावना है।

मध्यप्रदेश मौसम अपडेट
मध्यप्रदेश मौसम अपडेटSocial Media

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co