Multai : बारिश नहीं होने से फसलों में लगने लगे कीड़े
बारिश नहीं होने से फसलों में लगने लगे कीड़ेसांकेतिक चित्र

Multai : बारिश नहीं होने से फसलों में लगने लगे कीड़े

मुलताई, मध्यप्रदेश : बोवनी के बाद बारिश नही होने तथा तेज धूप तपने से अब फसल में कीड़े लगने लगे हैं जिससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें गहराने लगी हैं।

मुलताई, मध्यप्रदेश। बोवनी के बाद बारिश नहीं होने तथा तेज धूप तपने से अब फसल में कीड़े लगने लगे हैं जिससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें गहराने लगी हैं। वर्तमान में आसमान पर बादल तो हैं लेकिन बारिश नही हो रही है जिससे अंकुरित फसल में कीड़े लग रहे हैं एैसी स्थिति में किसान बारिश की कामना कर रहा है लेकिन बारिश नही हो रही है। नगर सहित क्षेत्र में फिलहाल मक्का, सोयाबीन, मूंग तथा धान की फसल लगभग छ: इंच तक बड़ी हो गई है जिसे बारिश की सख्त जरूरत है। हालांकि किसान अन्य स्त्रोत से पानी की पूर्ति का जुगाड़ लगा रहे हैं लेकिन उक्त फसलों को यदि बारिश का पानी मिलता है तो फसलों की तेजी से बढ़त होती है। इधर प्रतिदिन सुबह बारिश का मौसम बनता है लेकिन बाद में पूरे दिन तेज धूप तप रही है जबकि इस माह में खासी बारिश होती है लेकिन अभी इंद्रदेव रूठे हुए नजर आ रहे हैं।

किसान हो रहा परेशान :

किसानों ने बताया कि फसल में कीड़े लगने से फसल स्वाहा हो सकती है इसलिए अब उन्हें मंहगी कीटनाशक खरीदना पड़ रहा है जिससे वे आर्थिक रूप से प्रभावित हो रहे हैं। जौलखेड़ा के किसान भूपेन्द्र ने बताया कि यदि इसी तरह धूप तपती रही तो फसलों में कीड़े ही कीड़े नजर आएंगे इसलिए बारिश होना जरूरी है। उन्होने बताया कि मक्का कीड़े की चपेट में आ चुका है जिसके लिए अब किसानों को कीटनाशक खरीदना पड़ रहा है जिससे फसल की लागत बढ़ रही है यदि इसके बावजूद बारिश में और विलंब हुआ तो किसान आर्थिक रूप से टूट जाएगा। गौरतलब है कि इस वर्ष मानसून समय के कुछ पहले आ जाने से किसानों ने तत्काल बोवनी लगा दी थी लेकिन कुछ दिन बारिश के बाद लंबे समय से बारिश नही हो रही है जिससे फसल अंकुरित होकर बढ़ तो रही है लेकिन तेज धूप तपने से फसलों में कीड़े लगकर पौधे चट कर रहे हैं।

कीटनाशक दुकानों पर लगी भीड़ :

वर्तमान में बोवनी के बाद जहां फसल छ: इंच तक बढ़ चुकी है वहीं बारिश नही होने से फसल में कीड़े लग रहे हैं एैसे में किसान कीड़ों को मारने के लिए कीटनाशक खरीद रहे हैं। नगर की कीटनाशक दुकानों पर ग्रामीण अंचलों से बड़ी संख्या में किसान पहुंचकर विभिन्न प्रकार के कीटनाशक खरीदने को मजबूर है ताकि फसल बर्बाद ना हो सके। किसानों ने बताया कि वर्तमान में बारिश की जरूरत है लेकिन तेज धूप तपने से फसलों पर कीटों का प्रकोप हो गया है जिससे फसल प्रभावित हो चुकी है इसलिए मंहगे कीटनाशक खरीदना उनकी मजबूरी है।

बारिश नही हुई तो प्रारंभ होंगे अनुष्ठान :

जुलाई माह में बारिश नही होने तथा फसलों में कीट लगने से अब किसान परेशान होने लगे हैं। यदि बारिश नही होती है तो नगर सहित क्षेत्र में बारिश के लिए अनुष्ठान प्रारंभ हो जाएंगे। बारिश की कामना से जहां शिव मंदिरों में जल चढ़ाया जाता है वहीं पूरे क्षेत्र के ग्रामीण ताप्ती जल लेने मुलताई पहुंचते हैं जहां से ताप्ती जल ले जाकर शिव मंदिरों में चढ़ाया जाता है। विगत कुछ वर्षों में मानसून आने के बावजूद कुछ समय तक बारिश नही होने से पूरे क्षेत्र में अनुष्ठान के दौर चले थे। फिलहाल जुलाई माह में तेज धूप तपने से फिर वहीं स्थिति निर्मित हो रही है जिससे नगर सहित क्षेत्र में अनुष्ठान का दौर प्रारंभ हो सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co