नगर निगम की कार्रवाई: कंप्यूटर बाबा के करीबी की अवैध संपत्ति पर चला बुलडोजर

इंदौर, मध्यप्रदेश : इंदौर पुलिस ने मंगलवार से फिर शुरू कर दी गुंडे और बदमाशों के मकान तोड़ने की कार्रवाई, कम्प्यूटर बाबा के करीबी रमेश तोमर के घर नगर निगम की कार्रवाई।
नगर निगम की कार्रवाई: कंप्यूटर बाबा के करीबी की अवैध संपत्ति पर चला बुलडोजर
कंप्यूटर बाबा के करीबी के घर नगर निगम की कार्रवाईSocial Media

इंदौर, मध्यप्रदेश। प्रदेश के इंदौर में कंप्यूटर बाबा की परेशानी कम होने का नाम ही नहीं ले रही है, बता दें कि कंप्यूटर बाबा पर सरकार ने कसी नकेल, अब कंप्यूटर बाबा के करीबी पर कार्रवाई जारी है। मिली जानकारी के मुताबिक़ कम्प्यूटर बाबा के करीबी रमेश तोमर पर नगर निगम और जिला प्रशासन की टीम द्वारा कार्रवाई की जा रही है। बता दें कि निगम का अमला रमेश तोमर के अवैध निर्माण को गिराने पहुंचा है।

जानिए पूरी खबर :

जानकारी के मुताबिक मंगलवार से फिर पुलिस और प्रशासन ने नगर निगम के साथ मिलकर चाकूबाजी, लूटपाट सहित अन्य अपराध करने वाले गुंडे-बदमाशों के मकानों को ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू की, पहली कार्रवाई की शुरुआत आजाद नगर से हुई, जहां गुंडा रमेश तोमर रहता है, कंप्यूटर बाबा के करीबी के अतिक्रमण पर चला बुलडोजर, नगर निगम की टीम के साथ जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार

कार्रवाई की जद में आया रमेश तोमर नाम का व्यक्ति चर्चित कंप्यूटर बाबा उर्फ नामदेव दास त्यागी का करीबी बताया जा रहा है। बताया गया है कि रमेश के नाम से ही पंजीकृत महंगी लग्जरी कार का उपयोग कंप्यूटर बाबा करता था। रमेश तोमर के यहां मूसाखेड़ी स्थित अवैध कब्जों को चिन्हित कर अतिक्रमण विरोधी कार्रवाई प्रारंभ की गयी है। रमेश तोमर के विरुद्ध थाना संयोगितागंज थाने में मारपीट, गाली गलौज, बलवा करने, जान से मारने की धमकी देने, तोड़फोड़ करने, विद्युत चोरी, शासकीय कर्मचारी पर हमला, धोखाधड़ी, फर्जी दस्तावेज तैयार करने, अवैध कब्जा करने और शराब रखने जैसे मामले दर्ज हैं।

बता दें कि कम्प्यूटर बाबा के करीबी रमेश तोमर ने पार्क की जमीन पर कब्जा कर तीन अवैध मोबाइल टाॅवर खड़े करवा लिए थे, ऊंचाई ज्यादा होने से इन्हें काटकर हटाया जाएगा। निगम की टीम पुलिस के साथ 5 जेसीबी लेकर रमेश के आजाद नगर थाना क्षेत्र के इदरीश नगर में पहुंची और कार्रवाई को अंजाम दिया। बताते चलें कि रमेश तोमर पर कई आपराधिक मामले भी दर्ज हैं। आपको बता दें इससे पहले जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए कंप्यूटर बाबा आश्रम ढहा दिया गया था, इस दौरान विरोध करने पर पुलिस ने बाबा सहित सात लोगों को जेल भेज दिया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co