10 हजार ईनामी सलमान लाला का साथी इमरान निकला कोरोना पॉजीटीव
ईनामी सलमान साथी इमरान निकला कोरोना पॉजीटीवGopal Mavar

10 हजार ईनामी सलमान लाला का साथी इमरान निकला कोरोना पॉजीटीव

मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले से सटे नागदा में 10 हजार ईनामी बदमाश सलमान लाला का साथी कोरोना पॉजीटिव मिलने से पुलिस महकमे में मचा हड़कंप।

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले से सटे नागदा में 10 हजार ईनामी बदमाश सलमान लाला के साथ राजस्थान के तीन एक जावरा को 9 मई को शहर की पुलिस ने पकड़ा था। शहर में ऐसा लग रहा था की बदमाशों का आतंक अब शहर में नहीं रहेगा पर इनमें से एक राजस्थान के बदमाश कोरोना पॉजीटीव आने से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। तीन में से दो की रिपोर्ट आई उसमें एक पॉजीटीव व एक की निगेटिव, एक की रिपोर्ट आना बाकी है। स्थानीय पुलिस के सामने अब समस्या यह है कि इन बदमाशों के संपर्क किन-किन से थे अब वह लोग इनको आसानी से मिल नहीं सकेंगे। कोरोना मुक्त हुए शहर पर फिर खतरा नही मंडरा जाए इसको लेकर पुलिस चिंतित है।

11 माह से फरार कुख्यात बदमाश सलमान

आरोपी लाला के साथ तीन राजस्थान के एक जावरा के बदमाश को पुलिस ने 9 मई को सुबह चंबल मार्ग के एक मकान से घेराबंदी कर पकड़ तो लिया था। उस समय स्थानीय पुलिस के दिमाग में कोरोना का मामला तो था ही नही पांच बड़े बदमाश पकड़ाए जाने के बाद स्थानीय पुलिस सहित जिले के भी अधिकारी इतने खुश थे कि आरोपियों की कोरोना की जांच करना मुनासिब नहीं समझा। पुलिस को दो आरोपियों का रिमांड भी मिला। तीन राजस्थान के इमरान, सलमान व रेहान को जेल भेज दिया था। तीनों 10 दिन तक भेरूगढ़ जेल में भी रहे। तीन दिन बाद सलमान लाला व अलफेज को भी जेल भेज दिया था। पांचो लगभग सात दिन साथ में रहे। 20 मई को राजस्थान अरनोद की पुलिस राजस्थान के तीनों आरोपियो को प्रोडेक्शन वारंट पर ले गई। न्यायालय में पेश करने के दोरान न्यायाधीश ने तीनों आरोपियों की कोरोना जांच कराने के आदेश दिए इस पर तीनों की सैम्पलिंग राजस्थान में ही की तब तक उन्हें तीनों को क्वारेंटिन में रखा गया । तीन में से दो की रिपोर्ट आई इसमें इमरान की पॉजीटीव व रेहान की निगेटिव रिपोर्ट आई। सलमान की आना अभी बाकी है।

भेरूगढ़ में भी मंडराया कोरोना का खतरा

इमरान की पॉजीटीव रिपोर्ट आने के बाद राजस्थान तो ठीक भेरूगढ़ जेल में भी कोरोना का खतरा मंडरा रहा है। क्योंकि आरोपी वहां लगभग 10 दिन रहे हैं। इतना ही नही स्थानीय पुलिस विभाग में भी इसको लेकर हड़कंप मच गया है। जिन अधिकारियों ने उनसे पुछताछ की थी वह भी अब घबरा रहे है। हालांकि पुलिस विभाग के अधिकारी की तो प्रतिदिन जांच होती है। इमरान की जांच न्यायालय के आदेश पर हुई थी उसे भी कोरोना के कोई संक्रमण दिखाई नहीं दे रहे थे।

जेल के अधिकारियों के हाथ में है

सलमान लाला और अलफेज उन तीनों के साथ ही जेल में रहे हैं। इनकी भी कोरोना की जांच होगी या नहीं इस संबंध में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हमने आरोपियों को जेल भेज दिया है अब उनकी जांच कराना या नहीं कराना जेल अधिकारियों के हाथ में है। इस संबंध में भेरूगढ़ जेल अधीक्षक से चर्चा करने का प्रयास किया लेकिन चर्चा नहीं हो सकी।

जेल भेजने के पहले कोरोना की जांच जरूरी

पूरे देश में महामारी का प्रकोप कम नहीं होते देख राज्य सरकारो ने एक आदेश जारी किया है की कोई भी आरोपी को जेल में भेजने के पहले उसे क्वारेंटिन में रखकर सैम्पल लेकर उसकी जांच कराई जाए। जांच रिपोर्ट निगेटिव आती है तो आरोपी को जेल भेजा जाए यदि पॉजीटीव आती है तो उन्हें जेल में ही क्वारेंटिन में रखा जाए। इसी आदेश का पालन अरनोद पुलिस ने किया तो अन्य कैदी भी कोरोना से बच सकेंगे।

हमने 9 मई को गिरफ्तार किया था। 10 मई को तीनों आरोपियों को भेरूगढ़ जेल भेज दिया था। इमरान की रिपोर्ट राजस्थान में पॉजीटीव आई है। सलमान लाला व अलफेज की जांच कराना जेल अधिक्षक के हाथ में है।

श्यामचंद्र शर्मा, टीआई, मंडी थाना नागदा

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co