नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान- कांग्रेस की हालत खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे जैसी

मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के चौरई ब्लॉक में कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान एसडीएम के मुंह पर कालिख पोतने का मामले को लेकर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बयान, कही ये बात।
नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान- कांग्रेस की हालत खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे जैसी
नरोत्तम मिश्रा का बयानSyed Dabeer-RE

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोरोना संकट के बीच मध्यप्रदेश के कई मुद्दों पर राजनीतिक गलियारे में जहां राजनेताओं के बीच आपसी बहस की खबरें सामने आती ही रहती हैं, वहीं मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा बयान-बाजी को लेकर चर्चा में बने हुए हैं। अब छिंदवाड़ा जिले के चौरई ब्लॉक में कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान एसडीएम सीपी पटेल के मुंह पर कालिख पोतने का मामला गरमा गया है। एसडीएम को कालिख पोतने के मामले को लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा ने दिया बयान।

SDM को कालिख पोतने पर मिश्रा बोले- कांग्रेस की हालत खिसियानी बिल्ली जैसी

छिंदवाड़ा जिले के चौरई ब्लॉक में कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान एसडीएम सीपी पटेल के मुंह पर कालिख पोतने का मामला अब तेजी से गरमा गया है। अब प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बयान देते हुए कहा कि छिंदवाड़ा में एसडीएम के साथ जो भी हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण है। आज विपक्ष ‌में आने पर कांग्रेस की हालत खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे जैसी हो गई है। कांग्रेस के‌ लोगों को ऐसा अमर्यादित आचरण‌ नहीं करना चाहिए।

बीजेपी हमेशा जनता के बीच, जनता से जुड़कर रहने वाली पार्टी है, कांग्रेस की तरह नहीं कि चुनाव के समय जनता याद आती है और इसके बाद उसे भूल जाती है।
वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा का बयान-

वहीं आगे मिश्रा ने कहा कि कर्जमाफी के झूठे वादे को लेकर प्रदेश के किसान कांग्रेस से नाराज हैं। वादा पूरा नहीं होने से वे डिफाल्टर हो गए हैं और बैंकों से नया कर्ज नहीं ले पा रहे हैं। इस मामले में कांग्रेस को आत्ममूल्यांकन करना चाहिए। वही मिश्रा ने कहा कि संसद में पारित किए गए कृषि सुधार के नए कानून को लेकर एक बार फिर आईएनसी इंडिया का दोहरा चरित्र सामने आया है। इस संबंध में कपिल सिब्बल के भाषण का वायरल हो रहा वीडियो इसका स्पष्ट उदाहरण है। प्रधानमंत्री जी किसानों की आय बढ़ाने के लिए कृतसंकल्पित हैं।

प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बयान देते हुए कहा कि दीपिका पादुकोण और अनुराग कश्यप जैसे लोग जेएनयू में जाकर राष्ट्रीय मुद्दों पर अपनी राय रखते रहे हैं। अब समाज के सामने इनका दूसरा रूप भी सामने आ रहा है। लोगों को देखना चाहिए‌ कि जो देश‌ के‌ प्रमुख मुद्दों पर राय रखते हैं उनका दूसरा चरित्र भी कैसा‌ है?

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co