घटिया अनाज की खरीद के लिए नाथ को गरीबों से मांगनी चाहिए माफी- मिश्रा
घटिया अनाज की खरीद के लिए नाथ को गरीबों से मांगनी चाहिए माफी- मिश्रा|Syed Dabeer-RE
मध्य प्रदेश

भोपाल: घटिया अनाज की खरीद के लिए नाथ को गरीबों से मांगनी चाहिए माफी- मिश्रा

भोपाल, मध्यप्रदेश: नरोत्तम मिश्रा का बयान, कांग्रेस ट्वीट कर भाजपा सरकार पर लगा रहे हैं इल्ज़ाम, उन्हें तो घटिया अनाज की खरीद के लिए गरीबों से माफ़ी मांगनी चाहिए।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

भोपाल, मध्यप्रदेश। खतरनाक कोरोना संकट जहां बढ़ते संक्रमित मामलों के साथ थमने का नाम नहीं ले रहा है, वहीं दूसरी तरफ राजनीतिक जगत में नेताओं के बीच बयान-बाजी का दौर भी जारी है, प्रदेश के कई मुद्दों पर राजनीतिक गलियारे में जहां राजनेताओं के बीच आपसी बहस की खबरें सामने आती ही रहती हैं, इस बीच ही अब नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ के ट्वीट पर जवाब देते हुए कहा...

नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर कसा तंज

बता दें कि किसान की आत्महत्या पर कांग्रेस ओछी सियासत कर रही है। मृतक किसान के बेटे ने साफ कर दिया है कि लंबे समय से बीमार रहने के चलते उनका मानसिक संतुलन ठीक नहीं चल रहा था। आईएनसी मध्यप्रदेश को ऐसे संवेदनशील विषय पर ट्विटर की राजनीति छोड़ कर पीड़ित परिवार के बीच जाना चाहिए।

आगे नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि गरीबों के ज़ख्म का कुछ यूं किया इलाज़, मलहम भी लगा रहे हैं तो खंजर की नोंक से" घटिया चावल तो कमलनाथ जी की सरकार ने ही खरीदे थे। पोल खुली तो वो अब वो ट्वीट कर भाजपा सरकार पर इल्ज़ाम लगा रहे हैं। उन्हें तो घटिया अनाज की खरीद के लिए गरीबों से माफ़ी मांगनी चाहिए।

आपको बताते चलें कि किसान के आत्महत्या करने के मामले में कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाए थे। इस आरोप के जवाब में सीएम शिवराज ने कई ट्वीट कर लिखा- कमलनाथ जी, आप कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष है, पूर्व मुख्यमंत्री हैं, नेता प्रतिपक्ष है! आपको ऐसी ओछी राजनीति करने से बचना चाहिए, कम से कम अपने पद की गरिमा का ध्यान तो रखिये।

मिश्रा ने केंद्र ‌सरकार‌ के फैसले का किया स्वागत

वहीं दूसरी तरफ देश में PUBG सहित 118 मोबाइल एप बैन करने का मोदी सरकार का फैसला स्वागतयोग्य है। संबंधित सभी ऐप राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा थे, चाइनीज ऐप PUBG का बच्चों के‌ मानसिक‌ ‌स्वास्थ्य‌ पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ रहा था‌ और लंबे समय‌‌ से देश में इस‌ पर बैन‌ लगाने के‌ लिए‌ आवाज‌ उठ रही थी। ‌केंद्र ‌सरकार‌ के इस फैसले का आज पूरे देश में स्वागत हो रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co