दिव्यांग जनों की सेवा करना एनसीएल का सौभाग्य
दिव्यांग जनों की सेवा करना एनसीएल का सौभाग्य|Shashikant Kushwaha
मध्य प्रदेश

एनसीएल ने दिव्यांगों को दी कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरणों की सौगात

सिंगरौली, मध्य प्रदेश : एनसीएल, सीएसआर के अंतर्गत अपने आस-पास के सबसे जरूरतमन्द व्यक्ति तक जन कल्याणकारी योजनाओं की पहुँच बनाने हेतु पूर्णत: समर्पित हैं।

Shashikant Kushwaha

राज एक्सप्रेस। एनसीएल, सीएसआर के अंतर्गत अपने आस-पास के सबसे जरूरतमन्द व्यक्ति तक जन कल्याणकारी योजनाओं की पहुँच बनाने हेतु पूर्णत: समर्पित हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को कंपनी के नेहरू शताब्दी चिकित्सालय (एनएससी) जयंत ने मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले और उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के 207 दिव्यांग जनों में कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरणों का वितरण किया।

एनसीएल के निदेशक ने कहा-

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एनसीएल के निदेशक (वित्त एवं कार्मिक) श्री नाग नाथ ठाकुर ने कहा कि दिव्यांग जनों की सेवा का अवसर मिलना किसी सौभाग्य से कम नही है। एनसीएल दिव्यांग जनों को आवश्यक उपकरण मुहैया कराते हुए कौशल विकास की योजनाओं से उन्हे जोड़कर व जीविकोपार्जन के साधन देकर आत्मनिर्भर भी बनाएगी l

श्री नाग नाथ ठाकुर
श्री नाग नाथ ठाकुर
Shashikant Kushwaha

विधायक ने एनसीएल प्रबंधन को धन्यवाद कहा-

इस अवसर पर सिंगरौली क्षेत्र के विधायक श्री राम लल्लू वैश्य ने विगत कई सालों से कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण वितरित करने के लिए एनसीएल प्रबंधन को धन्यवाद दिया और आशा व्यक्त की कि, ये उपकरण लाभार्थियों के जीवनचर्या को सहज, सरल और सुगम बनाएँगेl

कृत्रिम अंगों के वितरण व समुचित उपयोग

कार्यक्रम में मोटराइज्ड ट्राईसाइकिल व हस्तचालित ट्राईसाइकिल, व्हील चेयर, बैसाखी, श्रवण यंत्र, कृत्रिम अंग एवं, कैलीपर आदि वितरित किए गए। दिव्यांगों को दिए गए सहायक उपकरणों एवं कृत्रिम अंगों के समुचित उपयोग सुनिश्चित करने के लिए उन्हें विशेषज्ञों द्वारा उपकरणों की प्रयोग विधि और रख-रखाव के तौर-तरीके भी बताए गए।

गौरतलब है कि एनसीएल ने भारत सरकार के एक अन्य उपक्रम भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को) के साथ मिलकर गत 13 से 19 नवम्बर 2019 उत्तरप्रदेश में एनसीएल के बीना एवं खड़िया क्षेत्र व मध्यप्रदेश में नेहरू शताब्दी चिकित्सालय व केन्द्रीय चिकित्सालय सिंगरौली में दिव्यांगों का परीक्षण किया था एवं 207 दिव्यांगों को कृत्रिम अंग व उपकरण वितरण करने हेतु चिन्हित किया था ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co